Junooniyat

Junooniyat

Har sher mein alfaaz to hote hain…. par alfaaz shayari nahi,
Pyaar to sab karte hain suhaani…. par har pyaar junooniyat nahi.

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

2 Comments

  1. Sridhar - May 23, 2016, 5:16 pm

    Bahut khoob Salman 🙂

  2. Deepika Singh - May 24, 2016, 11:47 am

    nice one!

Leave a Reply