“उस शख्स से बस इतना सा ताल्लुक़ है फ़राज़
वो परेशां हो तो हमें नींद नहीं आती|”
– अहमद फ़राज़

 

2800+ Poets 7k Poems 15k Comments


सर्वश्रेष्ठ कवि सूची*

 कविता प्रकाशित करने के लिए यहां क्लिक करें |

Latest Activity

 

सावन पर हिन्दी लेखक बनें|