Tum bin

Na nind aati tum bin,
Na khana khate tum bin,
Na kuch or acha lgta tum bin.
Viraan ho gye tum bin,
smj nhi aata kon h hum tum bin,
Na jee skenge tum bin,

#devil

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Leave a Reply