SHAYARI

उससे दोबारा होगी मुलाकात  क्योंकि गोल है दुनिया,

इस उम्मीद में इंतजार उसका आज़ भी बरकरार है।

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

तेरे न होने का वज़ूद

SHAYARI

The Candle and The Moth

To Love in Chains

2 Comments

  1. Neetika sarsar - May 20, 2017, 12:12 pm

    bhut khoob

Leave a Reply