शहीदी काव्य प्रतियोगिता

शहीदी काव्य प्रतियोगिता

भगत सिंह, शिवराम राजगुरु और सुखदेव थापर को श्रद्धांजलि देने और इनके बलिदानों को याद करने के लिये भारत में 23 मार्च को भी शहीद दिवस मनाया जाता है|

सिक्ख परिवार में पंजाब के लायलपुर में 28 सितंबर 1907 को जन्में भगत सिंह भारतीय इतिहास के महान स्वतंत्रता सेनानियों में जाने जाते थे। इनके पिता गदर पार्टी के नाम से प्रसिद्ध एक संगठन के सदस्य थे जो भारत की आजादी के लिये काम करती थी। भगत सिंह ने अपने साथियों राजगुरु, आजाद, सुखदेव, और जय गोपाल के साथ मिलकर लाला लाजपत राय पर लाठी चार्ज के खिलाफ लड़ाई की थी। शहीद भगत सिंह का साहसिक कार्य आज के युवाओं के लिये एक प्रेरणास्रोत का कार्य कर रहा है।

वर्ष 1929 में, 8 अप्रैल को अपने साथियों के साथ केन्द्रीय विधायी सभा में “इंकलाब जिंदाबाद” के नारे लगाते हुए बम फेंक दिया था। उन पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ और 23 मार्च 1931 को लाहौर के जेल में शाम 7:33 बजे फाँसी पर लटका दिया गया था। उनके शरीर का दाह-संस्कार सतलुज नदी के किनारे हुआ था। वर्तमान में हुसैनवाला (भारत-पाक सीमा) में राष्ट्रीय शहीद स्मारक पर, एक बहुत बड़े शहीदी मेले का आयोजन उनके जन्म स्थान फिरोज़पुर में किया जाता है।

शहीद दिवस के उपलक्ष्य में ‘सावन’ काव्य प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है| इसमें कोई भी कवि भाग ले सकता है| कृपया नीचे लिखे नियमों व शर्तों को पढ़ें|

कविता का विषय : शहीदी

नियम

    • कविता आपकी अपनी लिखी हुई होनी चाहिए तथा कहीं भी प्रकाशित नहीं होनी चाहिए, तथा कविता प्रतियोगिता के विषय से संबधित होनी चाहिए|
    •  23 मार्च (सन्ध्या 6 बजे) तक की रचनाओं को प्रतियोगिता के अन्तर्गत स्वीकार किया जाएगा|
    • कविता हिंदी या अंग्रेजी में हो सकती है| यदि आप किसी अन्य भाषा में कविता लिखना चाहते है तो आपको उसका हिंदी या अंग्रेजी अनुवाद भी कविता के साथ प्रस्तुत करना होगा|
    • प्रतियोगिता का परिणाम 23 मार्च की सन्ध्या को घोषित किया जायेगा|
    • प्रतियोगिता का विजेता का फैसला कविता की सोशियल नेटवर्किंग साइट पर की गयी शेयर के अनुसार किया जाएगा| अर्थात, जिस कविता पर सबसे ज्यादा शेयर होगें, उस कविता का कवि विजेता होगा| शेयर गिनने के लिए हर कविता पर शेयर काउंटर उपलब्ध है|
    •  23 मार्च के सन्ध्या के ६ बजे तक के शेयर विजेता निर्धारित करने के लिए गिने जाएगें|
    • प्रतियोगिता का विजेता का फैसला कविता को मिले कमैंट (Comments) के आधार पर किया जाएगा| अर्थात, जिस कविता पर सबसे ज्यादा कमैंट होगें, उस कविता का कवि विजेता होगा|
    • कमैंट 23 मार्च के सन्ध्या के ६ बजे तक गिने जायेंगे| इसके अलावा उस कविता के कवि के कमैंट को भी इस प्रतियोगिता के अन्दर नहीं गिना जायेगा| क़ृपया ध्यान रखें कि एक व्यक्ति के द्वारा एक ही कमेंट मान्य होगा|
    • इसी बीच आप अपनी कविता को अधिक से अधिक लोगो तक पहुंचा कर कमैंट प्राप्त कर सकते हैं|

पुरस्कार

प्रथम पुरस्कार : ₹ 500
द्वितीय पुरस्कार : ₹ 200
तृतीय पुरस्कार : ₹ 100

नोट : पुरस्कार राशि पैटीएम के द्वारा भेजी जायेगी|

कविता भेजने का तरीका

  • आपको कविता सावन पर सबमिट करने के लिए, पहले तो सावन की साइट पर रजिस्टर करना पढेगा| रजिस्टर करने के लिए यहां क्लिक करें|
  • रजिस्टर करने के बाद, आपको सावन की साइट के मैनू में ‘Write a Poem‘ पर क्लिक करना होगा ताकि कविता लिखने वाला पेज खुल सके| वहां आपको पूछी गई कविता की जानकारी तथा कविता डालनी होगी, तथा कविता की कैटेगरी में ‘शहीदी काव्य प्रतियोगिता’ को चुने|  प्रतियोगिता में सिर्फ़ वही कविता मंजूर की जाएगीं जिनमें प्रतियोगिता की फ़ोटो होगी|

नोट

  • कविता में अश्लील, उत्तेजक, मानहानिकारक, यौन शब्द शामिल नहीं होना चाहिए , तथा आपत्तिजनक या अनुचित सामग्री जो नफ़रत उकसाने का काम करे, नहीं होनी चाहिए।
  • कविता भेजने के बाद, वह सावन की एकमात्र संपत्ति हो जाएगी|
  • हर प्रतिभागी को स्पष्ट रूप से सभी नियमों का पालन करना होगा और प्रतिस्पर्धा के संबंध में सावन का निर्णय अन्तिम माना जाएगा|

Leave a Reply