Poems

तेरा सजदा – 89

तेरा सजदा – 89

         

कोई तेरे मन की ख़ुशियों में ही खुश रह्ता

कोई ता उमर ख़ुद की ख़ुशियाँ लोच्ता रह्ता                                                    

                                           …… यूई

तेरा सजदा – 88

तेरा सजदा – 88

         

कोई तेरे नूरानी नूर में रौशन रह्ता

कोई दुनियावी नूर में खोया रह्ता                                                   

                                           …… यूई

तेरा सजदा – 87

तेरा सजदा – 87

         

कोई तेरे इशक की इबादत में नाच्ता रह्ता

कोई वासना की झमेलों में बंधा मरता रह्ता                                                  

                                           …… यूई

तेरा सजदा – 86

तेरा सजदा – 86

         

कोई तेरी बँदगी मैँ झुका हुआ रह्ता

कोई ख़ुद की बँदगी में खोया रह्ता                                                  

                                           …… यूई

तेरा सजदा – 85

तेरा सजदा – 85

         

कोई सबको यहा ख़ुद सा ही पाता

कोई किसी को यहा ख़ुद सा ना पाता                                                                           

                                      …… यूई

Page 1105 of 1363«11031104110511061107»