meri mohabaat

tum nazaroon main,hazaroon main,
bas ak hi hoon,
tum..meri tishnagi meri bandagi main
tum hi toh ho,

meri maushiki,meri asqui,
ka karar tum ho,
meri abru meri justaju main,
tum hi toh ho

tujhe kya kahu,
ya rab kahu,
yeh mujhe pata nahin,
tu uska noor hain
ya hoor hain,
yeh mujhe pata nahin.

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 
यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|
 
सावन का लक्ष्य है, कविता के लिए एक मंच स्थापित करना, जिस पर कविता का प्रचार व प्रसार किया जा सके और मानवता के संदेश को जन-जन तक पहुंचाया जा सके| यदि आप सावन की इस उद्देश्य में मदद करना चाहते है तो नीचे दिए विज्ञापन पर क्लिक करके हमारी आर्थिक मदद करें|

 
Hi Everyone, I am from Kolkata.Land of culture and heritage.These are my creations.Please post your comment if you like it

Related Posts

Leave a Reply