YAWAR KAFEEL

  • YAWAR KAFEEL posted an update 1 week, 6 days ago

    भीगी हुई उन आँखों की क़सम खाता हूँ
    तसव्वुर-ए-जुदाई ही से मरा… जाता हूँ

    _________________यावर कफ़ील

  • बेटी.. ससुराल से आ जाये जो घर
    बेटी से घर बाग़-ओ-बहार रहता है
    _____________यावर कफ़ील

  • तुम भला क्यों सोचती रहती हो उसे
    तुम्हारी सहेली का ख़्याल है ”यावर”

  • कर नहीं पाएंगे कुछ अकेले….. ”यावर”
    मिल कर आओ जनवरी को जून कर दें

  • ”यावर” तुम्हारी बातों से कहाँ सेहर टूटेगा
    देवरानी जिठानी लड़ेंगी….. तो घर टूटेगा

  • Panna and Profile picture of YAWAR KAFEELYAWAR KAFEEL are now friends 2 weeks, 6 days ago

  • YAWAR KAFEEL posted an update 3 weeks ago

    तमन्ना थी यही……… तेरे पहलू में दम निकले
    इसी सोच में………जब तेरी गली से हम निकले
    भाइयों ने तेरे……….. कूटा तबियत से फिर हमे
    तमन्ना तो निकली बड़ी मुश्किल से हम निकले

  • YAWAR KAFEEL posted an update 3 weeks ago

    ख़मोशी से छुड़ा लिया था उसने
    हाथ अपना मेरे हाथ से ”यावर”

  • YAWAR KAFEEL posted a new activity comment 3 weeks ago

    shukriya

  • YAWAR KAFEEL posted a new activity comment 3 weeks ago

    shukriya

  • YAWAR KAFEEL posted a new activity comment 3 weeks ago

    shukriya

  • तड़प नाकामी-ए-इश्क़ वो थी कि बस ”यावर”
    तुमने समझी नही,…… हमसे जताई न गई

  • क़सम तुम्हारी कर्ली ज़ुल्फ़ों की खाता हूँ
    मदहोश….. तुम्हे देख कर हुआ जाता हूँ
    परफ़्यूम तुम लगाती हो क्या खूब है वो
    मदमस्त खुशबू भँवरे सा खिंचा आता हूँ

  • ” इंतज़ार ”

    सोचा भी न था मैंने
    वो मुलाक़ातें
    मेरे ख़्वाबों का
    मुक़द्दर बन जाएँगी
    उसकी बातें, उसकी यादें
    मुझे तड़पायेगी
    उसके नाम
    मेरी सांसों में
    बस जायेगा
    और __ हर रात
    मेरे ख़्वाबों में आके
    वो मुझसे पूछेगी
    ” यावर […]

  • जाने मेरा शुमार किन में करे है…. तू
    महफ़िल में ये हालत देखता नहीं मुझे

    _________________यावर कफ़ील

  • YAWAR KAFEEL became a registered member 3 weeks, 3 days ago