Activity

  • राही अंजाना posted an update 6 months ago

    सरहद के दोनों ओर है रैन-बसेरा तितलियों का,
    दोनों ही मुल्कों पर है जैसे पहरा तितलियों का,

    सुबह से शाम बातें हवाओं से करती हैं,
    मौसम दीवाने से है जैसे रिश्ता गहरा तितलियों का,

    खबर है सबकी खबरदार रहो इनसे,
    कहता है रंग सुनहरा तितलियों का॥
    राही (अंजाना)