Activity

  • Rajnandini Rawat posted an update 2 weeks, 3 days ago

    काश,ऐसी कोई जादू की छड़ी मेरे पास होती,
    जिसको गुमाने पर हो जाती मेरी खाव्हिशे पूरी,
    मेरी हर खुशी मेरे साथ होती,

    काश,ऐसी कोई घड़ी मेरे पास होती,
    ले आती फिर वो वक़्त,
    जब मेरी हर बात लोगों के लिए खास होती,

    काश,ऐसी कोई सुई मेरे पास होती,
    मेरे ख्वाब जो गए है बिखर,
    उन्हें सिलकर जोड़ने में कामयाब होती,

    किताबों के पन्ने पलट कर दोहरा लेती हूँ
    मैं फिर सबकुछ
    उसी तरह जी लेती मैं बीते पलों को,
    काश,जिंदगी अगर एक किताब होती ।

    (कवियित्री-राजनंदिनी राजपूत, beawar(राजस्थान)