Activity

  • Maharshi pathak posted an update 1 year ago

    😭वो मेरे बिना…✒

    वो अपने घर के आँगन में अकेली घूमती होगी,
    देख कर फूल बगिये में यही बस सोचती होगी,
    मेरे हर नज़्म के माफ़िक़ लफ्ज़ वो बोलती होगी,
    अपने गुलशन में वो प्यार की खुशबू घोलती होगी।
    🌹
    अपने तन-मन से मेरे नाम जब वो बोलती होगी,
    ज़ुबा से रह के भी खामोश वो कैसे बोलती होगी,
    अपने डायरी में लिखकर वो राज़ सब खोलती होगी,
    लिख के वो ख़त को आंसू से हाल-ए-दिल बोलती होगी।
    💘
    प्रार्थना में वो जो भी शब्द रब से बोलती होगी,
    क्या मांगे रब से मेरे नाम यही बस सोचती होगी,
    जो आंसू पोछ कर अपनी अपने लब खोलती होगी,
    लौटा दो प्यार फिर एक बार दुआ में बोलती होगी।
    💔💔💔💔💔💔
    @Maharshi pathak