Janki Prasad (Vivash)

  • *”प्यार की निशानी “*
    ^^^^^^^^^^^^–^
    गीतकार जानकीप्रसाद विवश

    मेरा हर शेर ,
    तेरे प्यार की
    निशानी है।

    प्यार तेरा ,
    मेरे जीवन की
    अमर कहानी है ।

    मत समझ
    सिर्फ हँसी
    जिस्म से है
    प्यार […]

  • *दर्द से नाता*
    ********
    गीतकार- जानकीप्रसाद विवश

    दर्द का
    जिंदगी से
    नाता है ,

    बेहिसाबी से
    दर्द भी
    इसे निभाता है।

    न किसी को है ,
    किसी की
    कभी
    कोई चिंता ,

    दर्द की जिंदगी ,
    कैसे
    कोई बिताता है। […]

  • सभी मित्रों का
    आत्माभिवादन
    मीठे स्वरों में , मधुर जिंदगी मिल जाती है।
    स्वरों की वसंती बहार में , जिंदगी खिल जाती है।।
    दुख- दर्दों की लू -लपटों में जो झुलस जाएँ,
    स्वरों की चिकित्सा उन सभी पर , ठंडक क […]

  • **मत करो देर”**

    मत करो देर , झटपट पाट दो , दिल की दरारों को ।
    जमाना क्या कहेगा ,समझ़ो, जमाने के इशारों को ।

    जिदों का यह अड़ियली रुख ,बहुत ज्यादा, नहीं अच्छा ,
    छोड़कर जिद निभाओ , प्यार के अलिखित करारों […]

  • सारा का सारा सागर हो ,
    फिर भी , प्यास अधूरी ।
    अगर भाग्य में प्यास लिखी ,
    यह.किस्मत की मजबूरी।
    जानकी प्रसाद विवश

  • “”***जगत् का कल्याण हो “**
    ***************
    हे मात भवानी ,जग कल्याणी,
    भव का रूप सँवारो ।
    भक्त जनों को, दैहिक दैविक,
    भौतिक तापों से उद्धारो।

    जब कृपा सभी पर बरसाती,
    सारे संकट मिट जाते ।
    हम सब संतान तुम्हा […]

  • प्यार की कैद से रिहाई रव करे न कभी ।
    इश्क की रिहाई से ,मौत भली होती है ।
    – जानकी प्रसाद ‘विवश’

  • “दरारें दिल की”
    ********
    दरारें दो दिलोंकी दिख न जायें, दुनिया वालों को।
    प्यार से पाट लो, कहीं प्यार न बदनाम हो जाए ।

  • आप जैसे, प्यारे मित्रों से जीवन सुहाना होता है।
    न चाह कर भी, जीवन जीने का बहाना होता है।
    जानकी प्रसाद विवश

  • “**भेद खोल दिया”**
    ^^^^^^^^^^^^^

    भेद
    पायल ने
    दिल का
    खोल दिया ,

    घुघरुओं ने
    भी क्या क्या
    बोल .दिया ।

    बेखुदी
    बेसुधी तन मन की,
    सारी
    लाँघ गई ,

    प्यार ने
    जिंदगी को ,
    प्यारा सा ,
    माहौल दिया । […]

  • प्रातः अभिवादन

    “**गुणों की महक”**
    ***?**?**??
    गुणों के गुलों की महक गुदगुदाए ,
    गुणों की महक ,जिंदगी महक जाए।
    लगाएँ नयी पौध नित , सदगुणों की ,
    वसंत आए ,आकर कभी भी न जाए।

    ******जानकी प्रसाद विवश ******
    स […]

  • “”**जिंदगी”**
    *****

    खुश रहकर गुजारो,
    तो मस्त है जिदंगी,
    दुखी रहकर गुजारो,
    तो त्रस्त है जिंदगी,
    तुलना में गुजारो,
    तो पस्त है जिंदगी,
    इतंजार में गुजारो,
    तो सुस्त है जिंदगी,
    सीखने में गुजारो,
    तो कि […]

  • “**सावधान हों”**
    ******

    सावधान होकर रहें , विपदा- शूली राह ।
    आतुरता करती सदा , जीवन भर गुमराह।।
    अजी सब सावधान हों ,
    नहीं व्यवधान कोई हो ।

    *********जानकी प्रसाद विवश ******
    * प्राण से प्यारे […]

  • रोज प्यार के गीत गुनगुनाए हर कोई मन ,
    मुसीबतों को ,सबक सिखाए हर कोई मन।
    नाच ले ,झूम ले मस्ती भरे , मधुर तरानों पर,
    खुशियों की बाँहों में ,झूल जाए हर कोई मन ।

    ^^ जानकी प्रसाद विवश^^

  • तेरी तस्वीर के आगे यह दुनिया कुछ भी नहीं है ।

    जो भी देखेगा तुझे देखकर, दीवाना हो जायेगा ।

  • “**जिन्हें याद करके “** मंगलकामनाएँ
    ************
    जिन्हें याद करके , हृदय नाच उठता,
    नहीं और कोई , वे हैं मित्र मेरे ।

    हर इक दुख और सुख में ,
    सदा साथ रहते ,
    करें एक दूजे के हरपल ,
    दिल में बसेरे ।
    क […]

  • “**प्रातः अभिवादन “**
    ***********
    मित्रतामय जगत सारा ,
    मित्रता ही महकती है ।

    गुलाबों की तरह हर पल
    दुख के शूलों के संग रहती।
    निभा कर साथ, सुख दुख में ,
    मित्र के सुख दुख को सहती।

    हर इक जीवन -प […]

  • **मित्रता के तख्त पर”**
    मधुर प्रातः स्मरण ”

    नित शाखें प्यार की हैं झूमती ,
    हर जिंदगी के. दरख्त पर ।
    हर सुवह शाम की दुआ-सलाम,
    करते है मित्रता के तख्त पर ।

    जानकी प्रसाद विवश
    प्य […]

  • सुप्रभाती-नमन
    दुआओं की दवाओं ने, वह असर दिखला दिया।
    दस दिनों की जगह, दो दिन में ही अंतर ला दिया।
    जानकी प्रसाद विवश

    प्यारे मित्रो,
    गुनगुनाती सुवह का रसीला नमन,
    सपरिवारसहर्ष स्वीकार करें ।
    सादर स […]

  • “**इन्द्र धनुषी-अभिवादन”**
    ***************
    मित्रता का महकता रहे चंदन ,
    मित्रता का मन करे हर पल वंदन. ।
    अमर रहें मित्रता के अक्षय कोष मे ,
    जग करे मित्रता का हरपल अभिनन्दन ।

    प्यारे मित्रो ,
    प्यार के चटकील […]

  • Load More