Dev Kumar

  • जिंदगी की सुंदर प्लास्टिक, कचरें में बदल जाती है
    अगर यूज न हो ढंग से, ऐसे ही जल जाती है

    कभी कभी जिंदगी से बढी मौत हो जाती है
    जिंदगी कभी कभी पानी में भी जल जाती है|

    कुछ को तो कचरे फैलाने से फ़ुरसत नहीं
    कुछ की तो […]

  • जब सुनाई नहीं देती यहाँ किसी को चीख भी किसी की,
    तो कौन सुनकर आऐगा आगे यहाँ अब खामोशी की आवाज तेरी,

    जिस तरह मुश्किल है बहती हवा को छू पाना,
    उसी तरह मुम्किन नहीं सुन पाना साँसों की आवाज तेरी, […]

  • Tu kaun hain,
    Meri padchai kya,
    Tujhe apna kahun,
    Ya phir padaya…

    Tu kaun Hain,
    tera ghar hain kaha,
    Dur bahut dur jana ab yahan,

    Teri adat thi kabhi
    Abhi bhi hain,
    Yaden teri mere panlchin main hain

    Kabhi […]

  • राह का पत्थर था या सोंच का भरम,
    जितना हुआ करीब टूट गया नज़रो का वहम,

    अनदेखा ख्वाब था या था बिखरा हकीकत का कहर,
    समय की बादशाही ने भर दिए मारे सारे मरहम,

    चन्द लम्हों को ही बना था वो छाया का चमन,
    शाम के बादल ने मिटा दिया फिर धूप का करम,

    बिखरा हुआ था कभी जो सनम अपनों के सितम से,
    लिपट गया है आज आकर वो हमसे कुछ ऐसा किया सर्दियों ने जतन॥

    राही (अंजाना)

  • वो हर रोज डूबकर फिर उबरने की जिद रखता है,
    मिटा दे जो हर शय से अँधेरे का वजूद,
    वो रौशनी का समेटे खुद में समन्दर रखता है,
    सोई हुई पूरी दुनियॉं को वो अकेले ही जगाने का हुनर रखता है,
    वो कौन है यारों वो किस शहर से अपनी हम सब पर नज़र रखता है,
    पढ़ते हैं हम हर रोज़ न जाने कितनी खबर,
    मगर न जाने किस इश्तेहार में वो अपनी खबर रखता है॥

    राही (अंजाना)

  • मैं बनाकर लाख चेहरे भले लोंगों को हंसाता रहा हूँ,
    मगर सच कुछ यूँ है के मैं अपने आँसू छुपाता रहा हूँ,
    कहने को कहते हैं सभी अपने अपने दिल की खुल कर,
    मगर खामोश ज़ुबा से हर बार मैं अपनी कहानी सुनाता रहा हूँ,
    अक्सर देखकर खुश होते हैं लोग कई खेल तमाशे,
    पर खुद ही का मैं दुनियाँ में तमाशा दिखाता रहा हूँ॥
    राही (अंजाना)

  • बहुत दिन हुए ले रहा है समय का पहिया कोई इम्तेहान मेरा,
    हवाओं की चाल पर है सफलता तो बताओ क्या करूँ,
    देखकर जल रहे थे शायद तरक्की मेरी,
    अब अपनों का मन ही बदल गया तो बताओ क्या करूँ,
    खूब की जोर ए आजमाइश आगे निकल जाने की मैंने,
    मगर कुछ दूर के फांसले पर ही रास्ता बदल गया तो बताओ क्या करूँ,
    कमी कहीं भी नहीं थी किसी चाल में मेरी,
    पर शतरंज का ख…[Read more]

  • कहने को कह दी हर बात तुझसे,
    फिर भी कुछ न कहने का एहसास बाकी है,
    हर मुलाक़ात के बाद बिछड़ने और फिर बिछड़कर मिलने की आस बाकी है,
    यूँ तो मुरझा गए हैं वो फूल मेरी किताबों में,
    मगर हर कागज़ पर तेरे हाथों की महक अभी बाकी है,
    जिस्म की माटी से नहीं था मेरा रिश्ता तुझसे,
    तभी रूह का रूह में सिमट जाना अभी बाकी है॥
    राही (अंजाना)

  • कहीं कोहरे की धुंध के पीछे छुप गए हैं मेरी सफलता के सभी रास्ते,
    जितना भी करीब जाता हूँ उतने ही दूर मेरे रास्ते नज़र आते हैं,
    यूँ तो दायरा है मेरे इर्द गिर्द कितनी ही दुआओं का मगर,
    मन्ज़िल पर मेरे पहुंचने से पहले शायद किसी की बद्दुआयें पहुंच जाती हैं॥
    राही (अंजाना)

  • मेरा मन ये कहता था के यह फिर इस बार नहीं होगा,

    मैं आगे बढ़ गया हूँ अब फिर पीछे कदम नहीं होगा,

    फिर मन में जिज्ञासा थी फिर कुछ पाने की आशा थी,

    एक बार गिरा फिर उठ बैठा और उठकर फिर मैं चलने लगा,

    पर चलते चलते मेरे मन में फिर संशय सा पलने लगा,

    मेरा मन ये कहता था के यह फिर इस बार नहीं होगा,

    मैं भी ज़िद्दी था बचपन से फिर अपनों से भिड़ने लगा,

    जो…[Read more]

  • टिल टिक घटते लम्हों को हम जीवन बोला करते हैं,
    क्या पल पल बढ़ते लम्हों से हम कुछ सीखा करते हैं,
    हर दिन गुजरे लम्हों को बस हम कोसा करते हैं,
    क्या हर पल गुजरे लम्हें में हम कुछ खोया करते हैं,
    हर दिन उठकर सो जाता है, फिर भी गर्मी दे जाता है,
    क्या उस सूरज चाचा से भी हम कुछ सीखा करते हैं,
    घना अँधेरा होने पर वो एक अकेला काफी है,
    क्या…[Read more]

  • हमारी खामोशियों का प्यार एक हिस्सा है,
    जो कभी खत्म न हो वो तेरा मेरा किस्सा है!
    तेरे जज्बातों ने ही मुझको कायर बना डाला,
    तुझे पाने की जिद ने मुझे शायर बना डाला !!

  • मैंने सूरज को आज फिर से चढ़ते देखा है,
    आसमान से परिंदों को उतरते देखा है !
    जो कल तक ईमानदारी की बात करते थे,
    उन्हें चन्द सिक्कों के लिए लड़ते देखा है !!

  • Shakun Saxena and Profile picture of Dev KumarDev Kumar are now friends 1 day ago

  • Shakun Saxena and Profile picture of PannaPanna are now friends 1 day, 2 hours ago

  • Load More