Deepika Singh

  • Vipul and Profile picture of NitikaNitika are now friends 1 year, 7 months ago

  • Anoop posted an update 1 year, 10 months ago

    झूठ ही सही
    मगर
    कहो कुछ इस तरह
    कि मुझे सच लगे…………

    थोड़ी सी बेईमानी ही सही
    तुम करो मगर
    कुछ इस तरह
    कि मुझे हकीकत लगे………..

    धोखा ही सही, हो कभी
    मगर हो कुछ इस तरह
    कि मुझे वक्त की मार लगे………….

    प्यार हो न हो
    मगर इतराओ कुछ इस तरह
    कि मुझे दीवानापन लगे …………………
    दीवाना हो तो कुछ इस कदर
    कि कोई मुहब्बत कर ना पायें …….…[Read more]

  • जमाने बीत गए जिनको भुलाये हुए
    आजफिर हैं क्यो याद वही आये हुए

    कितने बेरुखी से तोड़े थे वो दिल को
    दिल के टूकड़ो को हैं हम सम्भाले हुए
    स […]

  • Vipul and Profile picture of Mithilesh RaiMithilesh Rai are now friends 2 years ago

  • यूँ ही रोशनी नही होती,

    मोम को जलना पड़ता है

    यूँ ही चाहत नही मिलती

    इश्क़ की हद से गुज़रना पड़ता है

    “विपुल कुमार मिश्र”

     

  • Vipul wrote a new post, ग़ज़ल 2 years ago

    अक्सर खुशी का रिश्ता ग़म से होता है

    इसीलिए हँसी में भी आँख नम होता है

     

    मेरे हाल पर हँसने वालों ज़रा गौर करो

    वक़्त ही तो है हरदम बदल रहा होता है

    सुना है दर्द हद से गुज़रे तो लफ्ज़ होता है

    तो लिखो किताब यहां पू […]

  • Vipul wrote a new post, (no title) 2 years ago

    तू तो नही पर तेरी कहानी याद आयी

    सबको भूले पर तेरी जफ़ा याद आयी

    तेरे लिक्खे सब ख़तों को जला दिए

    पर तुझपे लिखी वो ग़ज़ल याद आयी

    “विपुल कुमार मिश्र”

    #VIP~

  • गुमशुम,मदहोश,खामोश कहाँ रहते हो

    वो क्या कहते है,हाँ मोहब्बत में रहते हो

    वो सुर्ख होंठ,क़ातिल नज़र बला की अदा

    एक दीद में क़त्ल का सामान रखते हो

    “विपुल कुमार मिश्र”

    #VIP~

  • Vipul wrote a new post, ग़ज़ल 2 years ago

    वो लोग भी एक खास ही जगह रखते है

    जो वक़्त पर मेरे सामने आईना रखते है

     

    कोई क्या लगाएगा मेरे वफ़ा का अंदाज़ा

    हम तो दिल भी किसी के पास रखते है

     

    गर देखना हो कभी अश्क़ों की सुनामी तो

    दरिया क्या हम […]

  • आज भी मुझमे कही तुम रहते हो

    मै तो अनपढ़ हूँ, तुम लिखते रहते हो

    धड़कनो के सुर पे जब साज़ लगते है

    मै तो खामोश होता हू तुम गाते रहते हो

    #VIP~

  • Vipul wrote a new post, (no title) 2 years ago

    इश्क़ का मज़ा तो सिर्फ बिछड़ने से आये

    वो आशिक़ी ही क्या जिसमे शादी हो जाये

    ‘विपुल कुमार मिश्र

  • Vipul wrote a new post, (no title) 2 years ago

    चलो दर्द में भी मुस्कुराते हैं

    यादो के साथ टकराते है

    तुम आओ तो सही

    मिलकर दर्द को आंख दिखाते है

    #VIP~

    • दर्द तो दिल में है जनाब
      आंख दिखाये तो दिखाये कैसे
      दरिया है दरमया अब
      पास आये तो आये कैसे

    • Vipul replied 2 years ago

      वाह!

    • Vipul replied 2 years ago

      दरिया क्या है समंदर भी सूख जाएगा
      तू आने की सोच तो रास्ता आप बन जाएगा
      #VIP~

    • very good

  • Vipul wrote a new post, (no title) 2 years ago

    अक्सर हंसी का रिश्ता ग़म से होता है

    इसीलिए खुशी में भी आँख नम होता है

    #VIP~

  • तेरे दुआओं में असर देखना है
    अब तो ज़हर पी के देखना है
    तन्हाई में बहुत बसर कर लिए
    अब तो महफिलों में तन्हा देखना है
    कहते थे कि मर जायेंगे भूलकर तुम्हें
    अब तो बस उन्हें मरते हुए देखना है
    ये स्याह रात,जाम और उनकी […]

  • ग़म को आराम नही होना चाहिए
    अब तुम्हें हार ऐलान करना चाहिए
    अपने साये को खुद पत्थर मारेंगें
    शर्त है कि दोस्त खुश होने चाहिए
    दिल,वो भी खाली क्या बात करते है
    इश्क़ न हो,दुश्मनी जरूर होनी चाहिए
    ये दुनिया वाले भी […]

  • ख़्वाहिश है कि कोई ख़्वाहिश न रहे
    लौट आओ की अब हम – हम न रहे
    #VIP~

  • To love in chains is not to love at all,
    To love in shame is to render the heart lame.
    For what is love but a heart set free,
    Mad with curiosity,
    LIke a bird once in captivity,
    Now flying high singing with glee. […]

  • उनके के होंठो से लफ्ज़ चुराकर

    उनके ही कानो तक पहुचाया है

    और वो पूछते है ….

    आपके शब्दों में दर्द कहा से आया है

    #VIP~

  • Vipul and Profile picture of Ritu SoniRitu Soni are now friends 2 years, 1 month ago

  • ये पूनम की रात भी बड़ी अजीब होता  है

    पास इसके भी किस्से कई महफूज होता है

    कुछ हसीं तो कुछ दर्द – ऐ – गम होता है

    क्या करे रातो में ही दीदार-ऐ-चाँद होता है

     

    “विपुल कुमार मिश्र”

  • Load More