इज़हार ए तसव्वुर

 

इस वीराने में अचानक बहार कहां से आ गयी

गौर से देखा तो ये महज़ इज़हार ए तसव्वुर था

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Panna.....Ek Khayal...Pathraya Sa!

5 Comments

  1. Rohan Sharma - February 5, 2016, 6:45 pm

    nice

  2. Panna - February 7, 2016, 7:04 am

    dhanyabaad…ji koshish jarur karunga

  3. UE Vijay Sharma - February 16, 2016, 3:39 pm

    इज़हार ए तसव्वुर .. Acha Hai …Tasvuur Ka Izhaar

Leave a Reply