yaad krte hai

Kabhi hum aahein bharte hai, kabhi fariyad karte hai…
Tumhe aye bhulne wale hum ab tak yaad karte hai.

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

1 Comment

  1. Devesh Sakhare 'Dev' - January 13, 2019, 3:42 pm

    Good

Leave a Reply