मुक्तक 13

चला जाता है कोई दूर ,दिल के पास रहता है ,
वही यादें ,वही खुशबू ,वही एहसास रहता है .

फ़कत इतना फरक है प्रेम के इन दो मिलापो में ,
की जब वो दूर होते है तो ग़म ये साथ रहता है ..

…atr

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Hi everyone. This is Abhishek from Varanasi.

4 Comments

  1. priya rajput - July 5, 2015, 12:18 am

    Nice Abhishek 🙂

  2. Panna - July 5, 2015, 12:50 am

    shaandar abh!

Leave a Reply