दिल को धड़कन की आवाज़ जब सुनाई नहीं देती

दिल को धड़कन की आवाज़ जब सुनाई नहीं देती

दिल को धड़कन की आवाज़ जब सुनाई नहीं देती,

आँखों को रौशनी की जब कोई रात दिखाई नहीं देती,

उलझे न रहें गर रिश्ते पैसों की चरखी में लिपट कर,

तो अच्छे व्यक्तित्व को ये दुनियाँ कोई बुराई नहीं देती।।

– राही (अंजाना)

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

2 Comments

  1. ज्योति कुमार - September 6, 2018, 1:30 am

    Bilkul sahi kaha aap ne

Leave a Reply