मजा आ गया होली में

सभी मित्रोजनो को होली की अग्रिम शुभकामनाये। आप सबों को होली पर
एक भेट! ******

प्रेम-रस का रंग बरसाने
निकली भर के झोली में !
क्युँ मैं सखियों से बिछङी
क्या आया रास अकेली में
ताँक रहे थे पिया गली में।
धर ले गए खींच दहेली में।
हाथो को पकङा रंग गालो
पर रगङा
मूक रही कुछ न बोली मैं ।
हाथो को जोङा पैरो को पकङा
सुनी एक न मेरी हमजोली ने।
मनभावन मेल लता-तरु सा
आहा! मजा आ गया होली में!?
-रमेश
जय राधे- कृष्ण–

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Leave a Reply