Other

ऐसी बेबसी भरी जिन्दगी “रहस्य “देवरिया

ऐसी बेबसी भरी जिन्दगी “रहस्य “देवरिया

Happy mother day मेरे तरफ से एक छोटी सी कोशिश उम्मीद करता हूँ सबको पसंद आएगा €€€€€€€€€€€€€ ऐसी बेबसी भरी जिन्दगी देने की वजहा बता देता, ऐसा क्या किये थे तू मुझे मेरी खता बता देता,, ********** अपने भूख प्यास को भूला के तूझे पालते रहे, अगर हैं ये खता तो मुझे मेरी सजा बता देता,, ********** जरूरत पडीं तो आज भी जान निसार करदू तूझपे, तूझे काबिल बनाने मे कमी रही हो तो वो कमी बता देता,, ********** आज कमजो... »

एक और मासूम की जिंदगी “रहस्य “देवरिया

एक और मासूम की जिंदगी “रहस्य “देवरिया

एक और मासूम की जिन्दगी (“रहस्य”) 😐😐😐😐😐😐 दौलत की चाहने रिश्तों के धागे को तार तार कर दिया हैं, एक और मासूम की जिन्दगी को मरने पर लाचार कर दिया हैं,, 😌😌😌😌😌😌 पापा सब दिया आपने इन्हें मेरी सूख खूशीओ की खातीर, पर इन दहेज़ के लोभीओ ने मेरा जिना दूशवार कर दिया हैं,, 😔😔😔😔😔😔 और ना हो सको परेशान मेरी वजहा मेरी होठों की हॅशी के लिए, माफ करना बाबा मुझे इसी लिए अपनी जान निसार कर दिया हैं,, 😦😦😦😦😦😦 दौ... »

मुर्दों को उठाने चलें है “रहस्य “देवरिया

मुर्दों को उठाने चलें है “रहस्य “देवरिया

मुर्दों को उठाने चलें है ” रहस्य “देवरिया अफ़सोस की हम सबको जगाने चलें है , हाँ ये सच है की मुर्दों को उठाने चलें है,, हर हिन्दू मस्त है अपनें मे जमाने से बेखबर , उनको आनें वाली सच्चाई अब दिखाने चलें है,, निंद मे हो तो मौत की निंद सूला दिये जावोगे , सपनो से जगा के सच से रूबरू कराने चलें है,, वो एक होते जा रहे छोटा बड़ा सब भूलकर, एक हम उच नीच जाती के नाम से लड़ते चलें है ,, “रहस्य... »

दिल को मेरे जलाया होगा “रहस्य “देवरिया

दिल को मेरे जलाया होगा “रहस्य “देवरिया

जिस्म को मेरे जलाये होंगे “रहस्य”देवरिया दर्द कितने खुद में हमने छुपाये होंगे , तूने जब दिल को मेरे जलाया होगा , ये रूह मायूस बेबस होकर तूझ से , जब तन्हाई में खुद को छुपाया होगा , मेरा साया तेरे कदमों से लिपट कर , कितना तेरे आगे वो रोया होगा , मासूम सा दिखने वाला कातील मेरा , कैसे गुनाहो को अपने छुड़ाया होगा , दर्द कितना खुद में हमने छुपाया होगा / ” रहस्य ” देवरिया »

दिल को मेरे जलाया होगा “रहस्य “देवरिया

दिल को मेरे जलाया होगा “रहस्य “देवरिया

जिस्म को मेरे जलाये होंगे “रहस्य”देवरिया दर्द कितने खुद में हमने छुपाये होंगे , तूने जब दिल को मेरे जलाया होगा , ये रूह मायूस बेबस होकर तूझ से , जब तन्हाई में खुद को छुपाया होगा , मेरा साया तेरे कदमों से लिपट कर , कितना तेरे आगे वो रोया होगा , मासूम सा दिखने वाला कातील मेरा , कैसे गुनाहो को अपने छुड़ाया होगा , दर्द कितना खुद में हमने छुपाया होगा / ” रहस्य ” देवरिया »

उनसे गुफतगू ना हो “रहस्य “देवरिया

उनसे गुफतगू ना हो “रहस्य “देवरिया

उनसे गुफतगू ना हो “रहस्य “देवरिया ऐ खुदा काश कि अब से वो रूबरू ना हो , ख्वाबों में भी अब उससे गुफतगू ना हो ] कम्बख्त झूठे सपने देखना कौन चाहता है, वो रात ही ना हो जिसमें निंद पूरी ना हो ] याद ना करू ये तो तेरी दिली ख्वाहिश थी, ना आ सामने कही ये हसरत पूरी ना हो ] ऐ खुदा काश कि अब से वो रूबरू ना हो % ” रहस्य “देवरिया »

शीर्षक – यादों का पिटारा….!!

शीर्षक – यादों का पिटारा….!!

लम्हे बचें जो जिंदगी के वो खुल के काट लें, जो बाकी रह जाए पिटारे में उसे आपस में बांट लें, वो नीले समंदर के किनारे, पिघले मोती से अंगारे, चल ख्वाहिशों की मुट्ठी में बांध लें, वो रंगीन लम्हे जिंदादिल के सारे, खुशी की चादर ओढ़े पलकों की बाहों में थाम ले, धूप छांव के खेल निराले, कुछ अपनी किस्मत के छाले, अपनी प्रेम की वर्षा कर जिंदगी को जिंदगी का नाम दें, लम्हे बचें जो जिंदगी के वो खुल के काट लें, जो ... »

एक शहर….!!

एक शहर….!!

रास्ताें से गुजरते हुए ईक शहर नजर आया, जिससे उढते धुएँ में इंसानियत का रिसता खुन नज़र आया, हँसते हुए चेहराे में, खुद को झूठा साबित करता हर इंसान जाे पाया, तब कहीं जाकर हमें भी कलयुग की रामलीला का सार समझ आया, रास्ताें से गुजरते हुए ईक शहर नजर आया….!! कुछ आेर आगे बडे, ताे खंडर हुईं ईमारताें का मलबा था, कहीं दुआ दबी थी , कहीं काेई शिकायत, कहीं ममता बिखरी पड़ी थी, ताे कहीं साेने की ईंटों के नीच... »

खामोशिया

मेरी खामोशिया खामोश नहीं है जरा इक बार सुन कर तो देखो| »

मानुषी छिल्लर

मानुषी छिल्लर

फ़क्र है हमें, नाज है हरियाणा की बेटी तू भारत की शान है| »

Page 2 of 191234»