Other

कुछ

कुछ ना होने का भी कुछ तो मतलब होगा यूँ ही तो नहीं कुछ ना हुआ होगा वो मतलब खोज लीजिए कुछ ना होना कुछ होने मै बदल जाएगा जिंदगी का ढंग आपके ढंग मे ढल जाएगा ! »

अजीब है दुनिया

अजीब है दुनिया अजीब बाजार है दुनिया जिंदगी का लिबास पहने मुर्दा है दुनिया ये रूह बेचकर रिवाज ख़रीदा करती है मन के अहसास जलाकर पथर पूजा करती है जात को अपनी पहचान बता , अपनी ओकात छुपाया करती है गाय को माता बताकर गुंडागर्दी , और नारी को पैर की जूती बताकर परुषार्थ सिद्ध करती है अजीब बाजार है दुनिया यहाँ सभी जिन्दा है, पर अभी मुर्दा है दुनिया ! »

मैं वो नहीं

मैं वो नहीं जो पास रहकर तुझे हँसाउगा मैं तो वो हूँ जो रहू या ना रहू लैकिन तेरी मुस्कुराहट की वजह कहलाऊँगा ! मैं वो नहीं जो उजालो मैं तेरा साया कहलाऊंगा मैं तो वो धुल हूँ जो अंधेरे से घबराकर तेरे माथे से टपके पसीने के सहारे तेरे पैरो से लिपट जाऊँगा ! मैं वो नहीं जो याद आकर तेरी आँखों से छलक जाऊँगा मैं तो वो हूँ जो ख्यालो की जमी पर उग कर तेरी जिंदगी को खुशहाल कर जाऊँगा ! मैं वो नहीं जो रीती – ... »

Kawwali…….

वो कहने लगे रुख से पर्दा हम हटा नहीं सकते हम ने कहा तुम्हारे हुस्न को देखे बिना हम जा नहीं सकते वो कहने लगे इस से हमारी रुसवाई होगी हमने कहा होने दो गर जो जगहसाई होगी उस ने कहा कभी तो हमारा कहा भी मान लिया करो हमने कहा हरदम परदे में रह कर न जान लिया करो वो कहने लगे बड़े ही लाचार नज़र आते हो हमने कहा कभी बेपर्दा आप आते हो मुस्कुरा कर वो बोले अबके जरूर आउंगी हमने कहा वादा करो के अबके निभाऊंगी इतना कहन... »

मंगल पांडे चितू पांडे ! Pankaj Sahani

  जरा याद करो उस बलिया को जो बीर पुरूष की धरती है जीवन का हो उदय यहां रोशन कुर्बानी करती है   मंगल पांडे चितू पांडे चन्द्रशेखर जैसे बीर जहाँ शहीद हुये इस भारत पे कश्मीर को अपना जान कहा   हम भी है उस बलिया के जहा रग रग मे प्रेम पनपती है जरा याद करो उस बलिया को जो बीर पुरूष की धरती है   सच्चे बीर सिपाही नेता देश पे अपने जान को देता आये बारी शहीद होने का इतिहास भी शिश झुकाती है या... »

गम के इन आसुओं का निकलना बहोत जरुरी था

गम के इन आसुओं का निकलना बहोत जरुरी था, तन्हाइयों में मेरा तुझसे अब मिलना बहोत जरुरी था ! मिटाने थे वो गिले सिकवे हुए हम दोनों के दरम्यान, इस पत्थर से दिल का भी पिघलना बहोत जरुरी था !! »

bchpn

लो फिर याद आ गया , वो बचपन सुहाना वो झूठ का रोना , वो सच का आँखों सी आलू का टपकना वो बेबाकी सी उदझ्ना सबसे. वो अपने साये सी भी डरना वो बारिश की मस्ती, वो कागज की कस्ती वो रेत का घर, वो मिटी का खिलौना , वो यारो की यारी, वो यारो की नाराजगी वो नादानी, वो मासूम सी शैतानी वो स्कूल न जाने का बहाना वो टीचर को सताना लो फिर याद आ गया वो बचपन सुहाना काश भूल पति वो बड़कपन का जमाना »

Frk btana

jb mai ud nhi pata tha tb kha mai jinda tha aksar chutai-chutai nano sai aakash ko taka krta tha kya hai isam jo itna dur hai aksar ma sai puch krta tha hans kr bs itna khti aik jruri frk btana hai iska kam aj uda hu to jana hai kya hai iskai pas jinda hona or sans laiuai ka frk btana hai iska kam »

Roulette

Blood shared Names yelled This is the way I want my Hell Lips pressed Teeth clenched Does anyone know What happens next Trigger pulled Bullet found Passion defined Within that sound Pain Is real Fear is fun Another round For anyone? »

Untamed

They say I play games Maybe I do But I remember their names I feel pain too Distance is familiar To this state of mind Love’s the shameless killer Of the quickest kind Go ahead and love me For my skin that has no depth But my nature’s  tricky And my temper is unkempt You’ll never understand How to win my favor But you can take my hand And taste a sweet New flavor Don’t make... »

Page 1 of 13123»