Sher-o-Shayari

बेख़ौफ़

चेहरे हर एक रोज बदलने का शौख रखते हैं, कुछ लोग अपने आप को बड़ा बेख़ौफ़ रखते हैं।। राही अंजाना »

अक़्ल

कुछ बेदर्द इंसानों ने अपनी अक्ल उतार कर रख दी, मासूम ज़िन्दगी की आईने में शक्ल उतार कर रख दी, दिन में लगे जो गहरे घावों की वस्ल उतार कर रख दी, पुनर्जन्म के पन्नों की खुदरी नक़्ल उतार कर रख दी।। राही अंजाना वस्ल -मिलन( वस्ल की रात) »

पत्थर

तोड़ सके तो कोशिश कर ले एक और बार, अब कसम से दिल को पत्थर कर लिया मैंने।। राही अंजाना »

बहार

सुना है तितलियाँ छेंडती हैं उनको, अब बदन बहार सा है तो भरम तो होगा ही..! Chandani »

बहार

बदन बहार सा लिए फिरते हो, तितलियों को भरम तो होगा ही..! Chandani »

प्रेम

लग गईं ना नमक के डिब्बों मे चीटियाँ तुमसे कहा था ना कि कुछ छुआ ना करो😍😝 »

दर्द

बेवफा जमाने को गर कहें तो कहें कैसे? हम तो खुद के भी नही रहे हमेशा के लिए…!!! -#चाँदनी »

आँचल

सर पर आँचल तो लाजमीं है न..!! जमीन-ए-हिन्द से जो हूँ ..!!!😊 @Chandani »

Teri yade

तेरी यादों की जागीर है जन्नत मेरी , हर पल हर छण तुम ही को देखती है आंखें मेरी , नजर तो आओ तुम ही को ढूंढती हैं आंखें मेरी , तेरे सिवा किसी को नहीं देखती हैं आंखें मेरी , अब चले भी आओ कि सूनी है आंखें मेरी , इन हवाओं से कह दो ना रास्ता रोके तेरी , यह दुनिया विरान है बस तुझ बिन मेरी….. »

Tery yade

तेरी यादों की जागीर है जन्नत मेरी , हर पल हर छण तुम ही को देखती है आंखें मेरी , नजर तो आओ तुम ही को ढूंढती हैं आंखें मेरी , तेरे सिवा किसी को नहीं देखती हैं आंखें मेरी , अब चले भी आओ कि सूनी है आंखें मेरी , इन हवाओं से कह दो ना रास्ता रोके तेरी , यह दुनिया बिरान है बस तुझ बिन मेरी….. »

Page 1 of 145123»