Hindi-Urdu Poetry

कैसे भी हो बस नाम हो मेरा

नाम हो मेरा, बस नाम हो मेरा नाम नाम के ऐसी होड़ लगी सबको पीछे यह छोड़ चली कैसे भी हो बस नाम हो मेरा ऐसी हवा यह खुद्की चली सबको साथ यह ले उड़ी ….. यूई »

नाम के उमर है उतनी

इस दुनिया में नाम के उमर है उतनी जितनी इस जीवन में देह के जितनी ….. यूई »

नाम की अपनी झूठी होड़ में

नाम की अपनी झूठी होड़ में मिलेंगे पागल तुम्हे हर मोड़ पे ….. यूई »

तेरे नाम की अब किसको है आशा

तेरे नाम की अब किसको है आशा हर कोई है अपने ही नाम का प्यासा ….. यूई »

ख़ुद के नाम में यूँ डूबी दुनिया

ख़ुद के नाम में यूँ डूबी दुनिया उसके नाम को ही ले डूबी दुनिया …… यूई »

आख़िर में क्या कर पाओगे

रंजिशें कितनी भी निभा लो दुश्मन कितने चाहो बना लो दोस्त जितने चाहो गँवा लो नशा है ही ऐसा दौलत का इसे जितना चाहो बड़ा लो होड़ जितनी चाहे ल्गा लो सबको पीछे छोड़ दौड़ लगा लो आख़िर में क्या कर पाओगे कभी तो थक हार बैठ जाओगे अकेले फिर ख़ुद में कुरलाओगे तब सबको साथ अपने बुलाओगे तब साथ कोई ना ढूँढ पाओगे …… यूई »

इन्ही नजरों में जीवन बिताना है मुझको

अपनी नजरोँ में बस छुपा लो मुझको जमाने कीं नजरोँ से बचा लो मुझको आपकी नजरोँ में सिमट जाना है मुझको इन्ही नजरों में जीवन बिताना है मुझको …… यूई »

क्यों करते हो इश्क मुझसे

पूछते हो के क्यों करते हो इश्क मुझसे सालों से जवाब इसका ढूँढ रहे हैं हम खुद्से …… यूई »

पहली नजर का मेरा इश्क है

पहली नजर का मेरा इश्क है बिन हिसाब का मेरा इश्क है ख़ुद में ही पावन यह इश्क है अकारण बिन-व्जह का इश्क है कह लो के पागल यह इश्क है माना तो सही के यह इश्क है …… यूई »

एहसास तेरी पह्ली छुअन का

एहसास तेरी पह्ली छुअन का मुझमें जिंदा बच गया मर कीं भी मुझमें …… यूई »

Page 374 of 532«372373374375376»