Hindi-Urdu Poetry

नव वर्ष

“नव वर्ष की शुभकामनाएं ” ————————— नव वर्ष की शुभकामनाएं / बच्चों में उत्साह जगाएं | प्रांगन मंदिर संस्कृति अपनाएँ / देवी को सुमधुर गीत सुनाएँ || भगवा ध्वज की पताकायें | तिलक चन्दन टीका लगाएं ? नव वर्ष धूम से मनाएं | देवी को सुमधुर गीत सुनाएँ || शंख ध्वनि मृदंग बजाएं / पुरुषोत्तम राम को याद दिलायें | विक्रमादित्य का विक्रमी मनाएं / ... »

कायरता

“पुलवामा शहीदों को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजली” पीठ पे वार करना, तुम्हारी पुरानी कुनीति है। आमने – सामने की रण, तुमने कब जीती है। कायरता के प्रमाण से तुम्हारे, अनभिज्ञ नहीं, पराजय की, सदैव तुम्हारे हृदय में भीति है। पौरूषता तो तुममें, कभी देखी नहीं हमने, धृष्टता दर्शाती, नपुंसकता तुम्हारी प्रकृति है। मानवता की बात बेमानी, जरा ना तुमने जानी, निर्दोषों को मारना, तुम्हारी मानसिक विकृति ह... »

सच की दीवार

सच की दीवारों पर झूठ की तस्वीरें दिखाई गईं, जब भी सर उठाया तो बस शमशीरें दिखाई गई, बैठा ही रहा मैं भी शहंशाहों सा चौकड़ी लगाकर, एक के बाद एक मुझे सबकी तकदीरें दिखाई गईं।। राही अंजाना »

भारत का कश्मीर

इक पूरा इंसान था ये सारा जहान एक हाथ काट गया बंगाल और दूसरे हाथ पाकिस्तान बिच में रह गया मेरा भारत महान कश्मीर पर हमला करके क्या करता है तू खुद पे गुमान दूध के बदले जो खीर देता वही है मेरा हिंदुस्थान »

हसीनों से

हसीनों से क्या माँगे कोई जो नज़र ही नहीं मिलाती मर मिटे उसके लिए कोई जो जहर ही नहीं पिलाती ! »

वजह

प्यार करने की कोई वजह नहीं होती दिलजलों के लिए कोई जगह नहीं होती ! »

कद्रदान

बहुत खूब लिखती हैं आप जैसे कोई कद्रदान मिला आपकी सायरी पढ़कर लगता है जैसे वरदान मिला ! »

वजह

लिखने को बहुत है पर कोई वजह तो मिले मिलने को बहुत है पर कोई जगह तो मिले ! »

Friend

Always try to be a good friend and never try to be a lover. »

प्यार

मैं नहीं कहता कि मैने किसी से प्यार नहीं किया, हाँ किया मगर किसी ने भी मुझे स्वीकार नहीं किया ! »

Page 2 of 5931234»