Geet

मैं अकेला ही चलूँगा

मैं अकेला ही चलूँगा । शीश पर तलवार मेरे, पाँव में अंगार मेरे, या काटूँ या फिर जलूँगा । मैं अकेला ही चलूँगा ।। तुम न मेरा साथ देना, हाथ में मत हाथ देना, अब सहारा भी न लूँगा । मैं अकेला ही चलूँगा ।। दीन दिखलाना नहीं है, हाथ फैलाना नहीं है, सब अभावों में पलूँगा । मैं अकेला ही चलूँगा ।। वेदना दो मैं सहूँगा, “हर्ष है”, दुख में कहूँगा, इस तरह तुमको छलूँगा । मैं अकेला ही चलूँगा ।। घाव अपने कर... »

मैं ही रहूँगा…..

——————— तेरे दिल में याद बनकर समा जाऊँगा तेरी आँखों में नशा बनकर छा जाऊँगा कशिश की सरहद से दूर ना जा पाओग मैं खुशबू बनकर एहसास की———– ———–तेरी साँसों में घुल जाऊँगा ये तो सांसारिक बातेें हैं, कि….. मैं तुम्हारा रहा नहीं कभी– लेकिन— ख़्वाबों–ख़्यालों से छुड़ाओगे तुम पीछा कैसे—-? &... »

Raahe …. (Like a Song)

Raahe …. (Like a Song)

Sapno me Sapne Hajar Hai, Yaado me Tuhi Dildar hai. Hume Zindagi se hua Pyar hai, Tera-hi-tera Intjaar hai. Ronak to Dekho in Raaho ki tum, Apne se ab lagne lage Hum. Khuli ye wadi Mahka Chaman, Dilbar ki bato me Dil h Magan. Ab Hume Zindagi se hua pyar hai, Tera-hi-tera Intjaar hai. Sapno me sapne Hajar hai, Yaado me ab tuhi Dildar hai….. (For you my Tamatar) »

जिंदगी जिंदगी जिंदगी जिंदगी।

जिंदगी जिंदगी जिंदगी जिंदगी। बेबसी बेबसी बेबसी बेबसी।। , ख्वाहिशे ख्वाहिशें ख्वाहिशे ख्वाहिशे। कुछ नहीं कुछ नहीं कुछ नहीं कुछ नहीं।। , काफिले काफिले काफिले काफिले। हम नहीं हम नहीं हम नहीं हम नहीं।। , मंजिलो से फासले मंजिलोे से फासले। गम नहीं गम नहीं गम नहीं गम नहीं।। , ख्वाब ही ख्वाब है ख्वाब ही ख्वाब है। हर जगह हर पहर हर घडी हर घडी।। , रातो में काँपना काँपना जागना जागना। थी भूख भी ठंड भी मुफलिसी ... »

“चिड़िया”

“चिड़िया” चीं चीं करती चिड़िया आती अम्बर ऊपर घोसला बनातीं | पानी जहां पर वहाँ मडरातीं औ जमी से उड़ -उड़ जाती | »

मेरी ये जिंदगी सारी वतन के नाम लिख देना।

मेरी ये जिंदगी सारी वतन के नाम लिख देना। कि है जिनकी वजह से हम उन्हें सम्मान लिख देना।। , मैं कुछ भी हूँ नहीं इसके बिना न पहचान है मेरी। कोई पूँछे मेरा मजहब तो हिन्दुस्तान लिख देना।। @@@@RK@@@@ »

जब जब तेरी याद आई है,

जब जब तेरी याद आई है, मैंने खुद को समझाया है।। बीते जीवन के लमहो में, तुमको ही बस पाया है। रह गया अकेला इस जीवन में, क्यू तूने मुझे भुलाया है। जब जब तेरी याद आई है। मैंने खुद को समझाया है।। ‘ जब मैं होता था तनहापन में, तेरी राहो को तकता था। तेरे सहारे ही जीवन के, हर तूफानो से लड़ता था। ‘ जीवन के सुलझे धागों को, क्या मैंने ही उलझाया है। ‘ जब जब तेरी याद आई है, मैंने खुद को समझाया ... »

माँ शारदे वरदान दो

माँ शारदे वरदान दो वरदायिनी वरदान दो मेरे उर में तेरा वास हो हर रोम में प्रकाश हो सन्मार्ग पर मैं चल सकूँ मुझे अभय का वरदान दो शवेताम्बरी वरदान दो वरदायिनी वरदान*** मैं पीर सबकी सुन सकूँ दुःख दर्द सबके हर सकूँ सबके लिए सद्भाव हो हंस वाहिनी वरदान*** मेरी वाणी भी ओ ज हो मस्तक पे मेरे तेज हो मुझे सप्त सुर का ज्ञान दो माँ शारदे वरदान*** जिव्हा पे तेरा नाम हो घट घट में तेरा वास हो वाणी मेरी मधुरिम बनें... »

“नाम” में प्रभू के हम, मस्त हो के जी रहे ……! (गीत)

नाम साधना के अभ्यास के दौरान उभरा हुआ यह गीत प्रस्तुत करने बहुत ख़ुशी महसूस कर रहा हूँ  ..! “नाम”  में  प्रभू  के  हम,   मस्त  हो  के  जी  रहे ……! (गीत)   हम  है  भक्त  “नाम”  के,   हम  तो  मस्त  हो  लिए, “नाम”  में  प्रभू  के  हम,   विश्वमन  में  खो  लिए, “नाम”  में  प्रभू  के  हम,   मस्त  हो  के  जी  रहे ……! “नाम” में   प्रभु  के  हम ,  मस्त  हो  यूं   गा  रहे ……! &nb... »

सारी दुनिया का यही, क्यूँ है ये हाल सही..….!(गीत)

सारी दुनिया  का  यही,  क्यूँ  है  ये  हाल  सही..….! (गीत) सारी दुनिया  का  यही,  क्यूँ  है  ये  हाल  सही, बाँहों  में  और  कोई,   ख्यालों  में  और  कोई… ख्यालों  में  और  कोई,   बाँहों  में  और  कोई..…. यारों,   जिसे  कहते  वफ़ा,   वो  क्या  है  वफ़ा  सही, वफ़ा  ख़ुद  से  बेवफाईi,   तो  ये  कैसी  वफा,  भाई…. सारी  दुनिया  का  यही,  क्यूँ  है  ये  हाल  सही, बाँहों  में  और  कोई,   ख्यालों   में  और  क... »

Page 2 of 81234»