Yogesh Chandra Goyal, Author at Saavan - Page 3 of 3's Posts

बरगद आजकल

अटल, अडिग, विशाल बूढ़े पेड़ को देख कर लगता है जैसे कोई ज्ञानी ध्यानी बाबा, आसन जमाकर बैठा है पेड़ की कुछ झूलती जटायें जो जमीन से जुड़ गयी हैं ऐसा लगता है जैसे कोई दाढ़ी जमीन में घुस गयी हैं सन्तान प्राप्ति के लिये, हिन्दुओं का पूजनीय बरगद स्वच्छ वायु, छाँव, चिड़ियों का बसेरा, थके को डेरा कट कर भी कितना काम आता, कितनी देह जलाता कभी किसी से कुछ नहीं लेता, सिर्फ देना ही जानता बरगद जो मिट्टी से जुड़कर, अपना ... »

बुढापे का मज़ा लीजिये

जीवन की आपाधापी में, चैन का एहसास कीजिये बेवजह की चिंता छोड़कर, बुढापे का मज़ा लीजिये शरीर पर झुर्री, बालों में चांदी, है तो होने दीजिये चलने को हाथ में छड़ी आ गयी, तो आने दीजिये गपशप कभी संगीत कभी, चाय पर चर्चा कीजिये कभी ताश, कभी फिल्म, बुढापे का मज़ा लीजिये कोई परेशानी हो तो दोस्तों या परिवार में कहिये अपेक्षा करो ना उपेक्षा, स्वयं पर भरोसा कीजिये शरीर ने खूब काम किया है थोडा आराम दीजिये कब तक यूं ... »

ए बादल इतना बरस

ए बादल इतना बरस कि सारी नफरतें धुल जांयें इंसानियत तरस गई है, मोहब्बत के सैलाब को »

Page 3 of 3123