Vikas, Author at Saavan's Posts

A pray for india

जब तक है जीवन तब तक इस की सेवा ही आधार रहे विष्णु का अतुल पुराण रहे नरसिंह के रक्षक वार रहे हे प्राणनाथ! हे त्रयंबकम! शिव शंभू के शिव सार रहे हम रहे कभी ना रहे मगर इसकी प्रभुता का पार रहे शेखर के वह उद्गार रहे अब्दुल हमीद सम ज्वार रहे हे पवनपुत्र! हे मारुति! भारत ही बारंबार रहे अब्दुल गफ्फार का शांति मार्ग बूढ़े जफर की तलवार रहे अब्दुल कलाम के प्राण बसे हिंदू मुस्लिम समभार रहे कण कण मिट्टी में वसु... »