Nitesh Chaurasia, Author at Saavan's Posts

अच्छा ही लगता है

जब तू साथ होती है सब अच्छा ही लगता है , तेरा गुस्सा यूँ हो जाना मुझे अच्छा ही लगता है ! तेरी आँखों की गहराई में डूबां हूँ मगर फिर भी , तेरा बाबू ही कह जाना मुझे अच्छा ही लगता है !! »

याद आती है

मेरे हसने और रोने मे तेरी याद आती है , मेरे जगने और सोने मे तेरी याद आती है ! तेरी अमृत भरी आँसूं को क्या मालूम मेरी जां, सम्न्दर पार विराने मे तेरी याद आती है !! »

शायर

हमारी खामोशियों का प्यार एक हिस्सा है, जो कभी खत्म न हो वो तेरा मेरा किस्सा है! तेरे जज्बातों ने ही मुझको कायर बना डाला, तुझे पाने की जिद ने मुझे शायर बना डाला !! »

ईमानदारी

मैंने सूरज को आज फिर से चढ़ते देखा है, आसमान से परिंदों को उतरते देखा है ! जो कल तक ईमानदारी की बात करते थे, उन्हें चन्द सिक्कों के लिए लड़ते देखा है !! »

बचपन

बचपन

जो बेबसी देख रहे हैं हम आज उनके चेहरो में , वो ढूंढेंगे दो वक्त की रोटी कूड़े पड़े जो शहरों में ! जात,पात,दुनियादारी उन्हें इन सबसे मतलब क्या, पेट की आग बुझाने को वो चल पड़ते हैं अंधेरों में !! शिक्षा,प्यार,खिलौना आदि ये शब्द वो जाने भी कैसे, जिनकी जिंदगी बीत जाती है इन कूड़ों की ढेरों में !! जिंदगी उनकी भी सुधरनी चाहिये ये सच तब होगा, उन्हें अपना बचपन मिल जाये एक नए से सवेरों में !! @नितेश चौरसिया  »

बचपन

बचपन

  जो बेबसी देख रहे हैं हम आज उनके चेहरो में , वो ढूंढेंगे दो वक्त की रोटी कूड़े पड़े जो शहरों में ! जात,पात,दुनियादारी उन्हें इन सबसे मतलब क्या, पेट की आग बुझाने को वो चल पड़ते हैं अंधेरों में !! शिक्षा,प्यार,खिलौना आदि ये शब्द वो जाने भी कैसे, जिनकी जिंदगी बीत जाती है इन कूड़ों की ढेरों में !! जिंदगी उनकी भी सुधरनी चाहिये ये सच तब होगा, उन्हें अपना बचपन मिल जाये एक नए से सवेरों में !! @नितेश चौर... »

जमीर

इस नफरत भरी सियासत में, कुछ बिक गये,कुछ डर गये ! पर फक्र करतें हैं आज उनपर, जो फिर जमीर के साथ घर गये!! »

Love

चलो चलकर फिर उसी जगह, नये रिश्तों की शुरुआत करें ! दो आँखें तेरी दो मेरी हों , आओ मिलके आँखे चार करें!! »

Kala Dhan

भोर था प्यार अब दोपहर हो गया, स्वपन का था महल खँडहर हो गया! करूँ जितना प्रयास पर मिलता नहीं, तुम्हारा प्यार नहीं काला धन हो गया!! »

यादें

जितना व्यस्त रखना है रख लो खुद को , नहीं तो मेरी यादें तुम्हे सब कुछ भुला देंगी ! नफरत करनी हो तो जरा दिल को मजबूत रखना , नहीं तो मेरी खामोशियाँ भी तुम्हे रुला देंगीं !! »

Page 1 of 212