Vinita Shrivastava, Author at Saavan's Posts

बुलबुले

पानी के हम बुलबुले, लहर बन जायँगे सीने पर कश्ती चलायंगे -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

नाव

हस कर चलते रहो आंसू न बहाओ ख़ुशी और गम की, है ये नाव -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

रंग

रंग रंग हज़ार हैं, रंगों में एक रंग रंग लो अपने मन में देश भक्ति का रंग -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

नज़र

नज़र ऐ खूब है खूब नज़राना देखूं तुझे या जमाना मनो न मनो मर्जी तेरी देदी मेने अर्जी मेरी -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

जागीर

ऐ ज़िन्दगी किसी की जागीर नहीं आज़ाद परिंदा रूह सबकी रूह तक पहुंचा जो, दुनिया में आबाद रहा -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

तालीम

तालीम लो न नफरत की, आदमी से प्यार करो ये रास्ता नहीं जन्नत का, मत दुनिया बर्बाद करो -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

फूले फले

आबाद रहे नित फूले फले ये देश मेरा ये देश तेरा विजयी रहे मंगल बरसे ये देश मेरा ये देश तेरा -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

चाँद

अमावस की रातों में, चाँद कभी ही आते हैं लेते अँधेरा दुनिया का उजयारा कर जाते हैं -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

शक

इस पर शक, मत कर यारों विश्व विजयी , ये भारत है हम संतानें हैं इसकी, करता मन से आरती है -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

मन्नत

मन्नत मेरी पूरी हो जाये भारत में जो शांति आए सारा ताम दूर हो जाये मिल जुलकर ज्योत जलाएं -विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)- »

Page 1 of 10123»