Neelam Tyagi, Author at Saavan's Posts

अधूरा

हमेशा किसी की तलाश रहती है मुझे लगता है जो कुछ है वो अधूरा है अल्फ़ाजों में कहां समाता है जो जहन में गूंजता है वो ही पूरा है »

कितने चेहरे

कितने चेहरे सामने आते जाते है हर रोज फिर क्यों कोई इक चेहरा दिल में अटक जाता है »

फीकी जिंदगी

कौन सा रंग भरू, किस रंग से उकेरू मैं जिंदगी की तस्वीर फीकी जिंदगी को र्ंग नही जचते| »

बारिश

बारिश भी कहीं भी कभी भी हो जाती है सूखे मन को नम कर से ऐसा कोई नहीं »

परवाह करे कोई

परवाह करे कोई, किसी को हमारा भी ख्याल हो किसी की जुबां पे कभी हमारा भी सवाल हो »

Kisi ko shikayat he,

Kisi ko shikayat he, kisi ko gila he Hum magar beparvaah he, Nahi matlab agar koi jala he   »

नीलम

नीले आसमान में कहीं अपना नाम लिख दूं ख्वाहिश है हर चीज को नीलम कर दूं वक्त कभी हमारा भी आयेगा ऐ दोस्त दुनिया मे में मैं अपना रंग भर दूं »

कुछ रिश्ते खास होते है

कुछ रिश्ते खास होते है दूर होते है, फिर भी पास होते है कैसे करे बयां, इन अहसासो को लफ़्ज कहां इतने खास होते है »