Mithilesh Rai, Author at Saavan - Page 26 of 39's Posts

मुक्तक

तेरी तम़न्ना ही मेरी हमराह है! मेरी मंजिल भटकी हुयी सी राह है! किसतरह चाहत को मिटाऊँ महादेव? तेरी आरजू ही बन गयी गुनाह है! मुक्तककार- #महादेव’ »

मुक्तक

आज भी मैं तेरा इंतजार करता हूँ! शामों-सहर खुद को बेकरार करता हूँ! जी रहा हूँ तन्हा ख्यालों में महादेव, शायद मैं अब भी तुमसे प्यार करता हूँ! मुक्तककार- #महादेव’ »

मुक्तक

वक्त बदल गया है मगऱ ख्वाब नहीं बदला! तेरी मस्त अदाओं का शबाब नहीं बदला! चाहत का जुनून अभी जिन्दा है महादेव, तेरी जुल्फों का अभी आदाब नहीं बदला! मुक्तककार- #महादेव’ »

मुक्तक

अपनी यादों में बार बार खोने दे मुझे! अपने ख्यालों में बार बार होने दे मुझे! अश्क़ भी बेताब हैं पलकों में महादेव, अपनी चाहत में बार बार रोने दे मुझे! मुक्तककार- महादेव’ »

मुक्तक

हो कर दूर तुमसे मैं जाऊंगा कहाँ? तेरे बिना मंजिल को पाऊंगा कहाँ? दर्द चुभ रहें हैं साँसों में महादेव, अश्कों को दामन में छुपाऊंगा कहाँ? मुक्तककार- #महादेव’ (मात्रा भार 22) »

मुक्तक

जिसतरह हमारे दिन रात बदल जाते हैं! जिन्द़गी के भी हालात बदल जाते हैं! रंग बदल जाते हैं ख्यालों के महादेव, लोगों के दिल में जज्बात बदल जाते हैं! मुक्तककार- #महादेव’ (मात्रा भार 24) »

मुक्तक

जब किसी से जिन्द़गी प्यार करती है! चाहत को दिल में बेकरार करती है! दिन गुजर जाता है यादों में महादेव, रात भर किसी का इंतजार करती है! मुक्तककार- #महादेव’ »

मुक्तक

आज भी मुझे याद है हर बात तेरी! जुल्फ से हवाओं की मुलाकात तेरी! हुस्न की लहर में बिखरी सी महादेव, अनकही अदाओं की हर रात तेरी! मुक्तककार-#महादेव’ »

मुक्तक

मेरी नज़र से दूर तुम जाया न करो! मेरे हसीन ख्वाब को तड़पाया न करो! तेरे लिए बेसब्र हैं ख्वाहिशें महादेव, मेरी मंजिलों पर गम का साया न करो! मुक्तककार- #महादेव’ »

मुक्तक

गम-ए-अंजाम को तेरे नाम मैं करता हूँ! तेरी दर्दे-महफिल को सलाम मैं करता हूँ! जिन्दा है अभी शौक जल जाने का महादेव, शामों सहऱ सिर्फ यही काम मैं करता हूँ! #महादेव की कविताऐं »

Page 26 of 39«2425262728»