Mithilesh Rai, Author at Saavan's Posts

मुक्तक

मुक्तक

तुमको किसी से कभी तो प्यार होगा! जिन्दगी का हर-पल बेकरार होगा! घेर लेगी दिल को जब भी तन्हाई, तुमको हमसफर का इंतजार होगा! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय (#मात्राभार_21) »

मुक्तक

मुक्तक

तेरी आरजू से मुँह मोड़ नहीं पाता हूँ! तेरी तमन्नाओं को छोड़ नहीं पाता हूँ! यादों में ढूंढ लेता हूँ तस्वीरें तेरी, तेरे प्यार से रिश्ता तोड़ नहीं पाता हूँ! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय (#मात्राभार_25) »

मुक्तक

मुक्तक

तेरी यादों की जब भी आहट होती है! दिल में जैसे कोई घबराहट होती है! साँसों की रफ्तार बढ़ जाती है जिस्म में, धड़कन में चाहत की गर्माहट होती है! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय (#मात्राभार_24) »

मुक्तक

मुक्तक

जो आती है लबों पर बात तुम वही तो हो! जो तड़पाती है मुलाकात तुम वही तो हो! ठहरी हुई है आग अभी चाहत की दिल में, जो जागी हुई है हर रात तुम वही तो हो! मुक्तककार- #मिथिलेश_राय (#मात्रा_भार_25) »

मुक्तक

मुक्तक

तुमसे मुलाकात कभी जो हो जाती है! जैसे दिल में अंगड़ाई रो जाती है! मयकदों में ढूंढता हूँ यादों के निशां, मेरी नींद पैमानों में खो जाती है! रचनाकार-#मिथिलेश_राय (#मात्रा_भार_23) »

मुक्तक

मुक्तक

तेरे बगैर तन्हा जमाने में रह गया हूँ! तेरी यादों के आशियाने में रह गया हूँ! हरवक्त तड़पाती है मुझे तेरी बेरुख़ी, तेरे ख्यालों के तहखाने में रह गया हूँ! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय »

मुक्तक

मुक्तक

आरजू तेरी बुला रही है मुझे! याद भी तुमसे मिला रही है मुझे! किसतरह मैं रोकूँ दिल की तड़प को? आग चाहत की जला रही है मुझे! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय »

मुक्तक

मुक्तक

आओ फिर से एक बार नादानी हम करें! नजरों में तिश्नगी की रवानी हम करें! जागी हुई है दिल में चाहत की गुदगुदी, आओ फिर से जख्मों की कहानी हम करें! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय »

मुक्तक

मुक्तक

मुझको तेरी याद अभी फिर आयी है! चाहत की फरियाद अभी फिर आयी है! मुझको ढूंढ रही है तन्हाई फिर से, तस्वीरे-बरबाद अभी फिर आयी है! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय »

मुक्तक

मुक्तक

तुम देखकर भी मुझको ठहरते नहीं हो! तुम सामने मेरे कभी रहते नहीं हो! बेचैनियों का शोर है ख्यालों में मगर, तुम अपनी जुबां से कभी कहते नहीं हो! मुक्तककार- #मिथिलेश_राय »

Page 1 of 30123»