Dinesh, Author at Saavan's Posts

“Darta Hun Kahin Kho Na Dun”- अपने अधुरे प्यार को एक बार जरूर सुनना…,

»

होली है रंगों का खेल

होली है रंगों का खेल होली है रंगों का खेल आवो खेले मिल के खेल देखो खेल रही है होली ये आसमा ये धरथी हमारी   आवो मिल के रंग चुराये सबको मिल के रंग लगाए रंग सच्चाई का आसमा से लाए रंग खुसी का हरयाली से चुराये रंग चेतना का सूर्य मे पाये रंग प्यार का फूलों से भर आए रंग सादगी का चाँद से ले आए आवो मिल रंग चुयारे सबको मिल के रंग लगाए मैं रंग जाऊँ तेरे रंग मैं तू मेरा रंग हो जाओ ओड़ तुझे मैं तन मन मे रंग दूँ... »

सूखे नहीं थे धार आंशु के, पड़ गए खेतों मे फिर सूखे

सूखे नहीं थे धार आंशु के पड़ गए खेतों मे फिर सूखे  »