Chandani yadav, Author at Saavan's Posts

दर्द

बेवफा जमाने को गर कहें तो कहें कैसे? हम तो खुद के भी नही रहे हमेशा के लिए…!!! -#चाँदनी »

आँचल

सर पर आँचल तो लाजमीं है न..!! जमीन-ए-हिन्द से जो हूँ ..!!!😊 @Chandani »

पापा

मेरा बिगडना तो लाजमीं है न? पापा! तुम साथ कहाँ हो मुझको डाँटनें के लिए??😢😢 @Chandani »

प्रेम

अब तू अपनाए या ठुकराए मर्जी तेरी , हम ठहरे मनमौजी मन किया हो लिए तेरे।। @chandani »

यादें

तेरी बेहिसाब यादें हैं मेरी जागीरें हैं, मुझसे ज्यादा अमीर कोई होगा क्या।। @chandani »

दर्द

फिर बेवा आँखे रोईं हैं कोई ख्वाब जरूर जला होंगा ।। #चाँदनी »

अहंकार

क्या मिलेगा तुमको हम बेजुबानों से उलझकर , इतना ही हौसला है तो खुदा से दो दो हाथ करो ..।। #chandani »

माँ

मेरी साँसों में उसके आंचल की खुशबू महकती है। तुम गौर से देखो मुझमें मेरी मां झलकती है।। Chandani »