Site-Wide Activity

  • तेरे दीदार का बहाना मिल ही जाता है!
    तेरी उल्फ़त का तराना मिल ही जाता है!
    कभी थकती नहीं नजरें मेरी इंतजार में,
    तेरी यादों का नजराना मिल ही जाता है!

    मुक्तककार- #मिथिलेश_राय

  • MerlinlawLB became a registered member 1 day, 11 hours ago

  • मैं इत्तेफाक से गुनाह कर बैठा हूँ!
    तेरे रुखसार पर निगाह कर बैठा हूँ!
    शामों-सहर रहता हूँ बेचैन इसकदर,
    तेरे लिए जिन्दगी तबाह कर बैठा हूँ!

    मुक्तककार- #मिथिलेश_राय

  • Arun verma became a registered member 2 days, 23 hours ago

  • मेरा जिस्म है मगर जान तुम्हारी है!
    तेरे बिना तन्हा जिन्दगी हमारी है!
    दर्द बरक़रार है तेरी जुदाई का,
    जाम की मदहोशी मेरी लाचारी है!

    मुक्तककार- #मिथिलेश_राय

  • Vishnu Vardhan posted an update 4 days ago

    Hi gd nght

  • तेरा ख्याल मेरी हद से गुज़र रहा है!
    मेरा जिस्म तेरी चाहत से डर रहा है!
    खुली हुई हैं सिलवटें ख्वाबों की नजर में,
    यादों का सफ़र अश्कों में उतर रहा है!

    मुक्तककार-#मिथिलेश_राय

  • तुमसे बार बार मैं बात करना चाहता हूँ!
    तेरी जुल्फ के तले रात करना चाहता हूँ!
    आती हैं हवाएं लेकर जब तेरी ख़ुशबू,
    फिर से एक बार मुलाकात करना चाहता हूँ!

    मुक्तककार-#मिथिलेश_राय

  • CurtiscixEP became a registered member 6 days, 2 hours ago

  • तेरा जो दीवाना था कब का मर गया है!
    तेरा जो परवाना था कब का डर गया है!
    कायम था तूफान जो मेरे अरमानों का,
    तेरी बेवफाई से कब का मुकर गया है!

    मुक्तककार -#मिथिलेश_राय

  • तेरा जिक्र दर्द का बहाना बन जाता है!
    मेरी बेखुदी का अफसाना बन जाता है!
    जब भी याद आती है मुझे तेरी दिल्लगी,
    जख्मों का दिल में आशियाना बन जाता है!

    मुक्तककार- #मिथिलेश_राय

  • Dimczo posted an update 1 week ago

    It’s an awesome point grüner kaffee abnehmen to be aware what you’re carrying out when you visit get a automobile with a dealer. Now you find out of what to look for and do, you may be significantly better prepared next time close to. Placed everything you’ve figured out jointly, and ensure you are a measure ahead of time the next…[Read more]

  • Dimczo‘s profile was updated 1 week ago

  • Dimczo changed their profile picture 1 week ago

  • Dimczo became a registered member 1 week ago

  • BrokerszerBU became a registered member 1 week ago

  • गोली चली थी उस रात, हमारे
    इरादों की छाती पर
    मर गयी हमारी हमदर्दी,
    शहनाई की ख़ामोशी सुनकर.
    ज़िद्दी दिलो और भोले विचारो
    के संग निकले थे हम कुछ साबित करने,
    किंतु राह में कही खो गए हम,
    सखा जो दुशमन बन गए.
    अकेली स […]

  • कोई खौफ़ नहीं है मरने से मुझको!
    दामन में अश्कों के बिखरने से मुझको!
    क्या रोकेगी तन्हाई शामों-सहर की,
    जिन्दगी भर इंतजार करने से मुझको!

    मुक्तककार-#मिथिलेश_राय

  • अपनी तमन्नाओं पर मैं नकाब रखता हूँ!
    धड़कनों में यादों की मैं किताब रखता हूँ!
    हर घड़ी तड़पाती है मुझे तेरी गुफ्तगूं,
    दर्द तन्हा रातों की बेहिसाब रखता हूँ!

    मुक्तककार-#मिथिलेश_राय

  • Load More