चमकता जिस्म, घनी जुल्फ़े, भूरी भूरी सी आंखे
यही है वो मुज़रिम जिसने कत्ल ए दिल किया है |

सावन काव्य प्रतियोगिता : मुखौटा का परिणाम

2100+ Poets 5k Poems 9.3k Comments

कविता प्रकाशित करने के लिए यहां क्लिक करें |

सावन की  ऐप डाउनलोड करें|


यदि आपको किसी कवि की कविता पसंद आती है तो उस पर अपनी अभिव्यक्ति अवश्य दें|

Latest Activity

 

सर्वश्रेष्ठ हिन्दी कहानी प्रतियोगिताStorieo l