Welcome to Saavan

कविता प्रकाशित करने के लिए यहां क्लिक करें |

1000+ Poets 4.6k Poems 8.8k Comments

सावन की गूगल प्ले से ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें |


New Poems

मुक्तक

मुक्तक

तुमको किसी से कभी तो प्यार होगा! जिन्दगी का हर-पल बेकरार होगा! घेर लेगी दिल को जब भी तन्हाई, तुमको हमसफर का इंतजार होगा! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय (#मात्राभार_21) »

मुक्तक

मुक्तक

तेरी आरजू से मुँह मोड़ नहीं पाता हूँ! तेरी तमन्नाओं को छोड़ नहीं पाता हूँ! यादों में ढूंढ लेता हूँ तस्वीरें तेरी, तेरे प्यार से रिश्ता तोड़ नहीं पाता हूँ! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय (#मात्राभार_25) »

मुक्तक

मुक्तक

तेरी यादों की जब भी आहट होती है! दिल में जैसे कोई घबराहट होती है! साँसों की रफ्तार बढ़ जाती है जिस्म में, धड़कन में चाहत की गर्माहट होती है! मुक्तककार-#मिथिलेश_राय (#मात्राभार_24) »

मुक्तक

मुक्तक

जो आती है लबों पर बात तुम वही तो हो! जो तड़पाती है मुलाकात तुम वही तो हो! ठहरी हुई है आग अभी चाहत की दिल में, जो जागी हुई है हर रात तुम वही तो हो! मुक्तककार- #मिथिलेश_राय (#मात्रा_भार_25) »

prem samandar hota hai

ऊपर से कुछ दिख न पाए , अंदर अंदर होता है गहराई में नप न पाए , प्रेम समंदर होता है लोगो ने है कितना लूटा प्रेम तो फिर भी पावन है जिसमे आंख से आंसू छलके, प्रेम वो सूंदर होता है प्रेम का देखो साधक बनकर, व्याकुल ब्यथित कबीरा है लोक लाज को त्याग के नाची , प्रेम दीवानी मीरा है बिन देखे ही बिन परखे ही करते लोग समर्पण है दिल में तक जो घाब बनादे ,पेना खंजर होता है सहज सहज सा भलापन है ,सहज है इसमें कठिनाई प्रियतम को तुम भले भुला दो , पीछा करती परछाई जिसको वादा मिला ख़ुशी का नयन तो उसके गीले है छोटी बदरि नहीं प्रेम की , पूरा अम्बर होता है शेखर कुमार »

हमारा सहयोगी 

Storieo l