ख्यालों में मेरे अब आती हो तुम ही,

हक मुझपे पूरा जताती हो तुम ही!

कैसे करूँ मैं अब तुमसे ये नफरत,

मेरे पे ही जाँ अब लुटाती हो तुम ही!!

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 
यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|
 
सावन का लक्ष्य है, कविता के लिए एक मंच स्थापित करना, जिस पर कविता का प्रचार व प्रसार किया जा सके और मानवता के संदेश को जन-जन तक पहुंचाया जा सके| यदि आप सावन की इस उद्देश्य में मदद करना चाहते है तो नीचे दिए विज्ञापन पर क्लिक करके हमारी आर्थिक मदद करें|

 

2 Comments

  1. Profile photo of Dev Kumar

    Dev Kumar - January 12, 2017, 1:20 pm

    Wah Wahhhh Nitesh Ji

Leave a Reply