हम सबका हिंदुस्तान

इस देश में अजीब किस्म की बात चल रही है,
हिन्दू , मुस्लिम ,सिख ,ईसाई कहने को है सब भाई-भाई
ख़ास तौर पर हिन्दू और मुस्लिमान
इस कविता में न कोई ऐसा नाम हैं जो हिन्दू या मुसलमान हैं , बल्कि एक हिंदुस्तान हैं

सदियों लंबा इतिहास है ये , सारे देशों में ख़ास हैं ये
दुनिया कहती है क्या चीज़ हैं ये , गंगा , जमुना तहज़ीब है ये
ये देश शिवा,राणा का हैं ; यह देश महाराणा का हैं

जय हो , अशोक , महावीर , विक्रमादित्य सम्राट की
यह बुद्ध , आदिशंकर नाथ की

यह पृथ्वीराज चौहान का हैं , हैदर , टीपू सुल्तान का हैं !
यही यशोधा ने कृष्णा को पाला हैं , यही का सुभाष मतवाला हैं

यही झाँसी की रानी हैं , यही का भगतसिंह बलिदानी है
एक जोश , एक सेलाब हैं ये ; अब्दुल कलाम का ख्वाब हैं ये !

ये देश रफी के गानो , ये देशः लाता के तालो का
ज़ख़ीर हुसैन के थापों का , किशोर कुमार के रागों का

दुनिया को दी है सरगम की देन , यही का हमारा तान सैन!
सारे संसार के गीत हैं ये हमारा जगजीत है ये!
ये तुलसी और कालिदास; गीतों ग़ज़लों की मीठास

यही हैं ग़ालिब की ग़ज़ल
यही है चलता किसान अपना हल
यही वो इतराता हुआ ताजमहल

यह लाल किला , यह क़ुतुब मीनार ,
अजन्ता एलोरा की पुकार

यही बेकहोफ रूहानी मस्ती हैं
यही का मोहिनुद्दीन चिश्ती हैं !

भाई चारा आंदन हैं है यहाँ
हमारे प्यारे विवेकानंद हैं यहाँ

यह कपिल, सचिन, गावस्कर हैं
सानिया , अभिनव हैं यहाँ
उषा मिल्खा की दौड़ हैं यहाँ

यहा मीणा हैं , मधुबाला हैं;
नरगिस वैजंतीमाला हैं

अमिताभ , और सलाम हैं यहा
शाहरुख़ और आमिर खान है यहा

यहा साधू संतो की भाषा हैं
संबंधित की परिभाषा हैं

गाँधी का अमर विचार हैं ये
टैगोर ,तिलक का प्यार है ये

ये भगवा और हरा भी है
रंगों से भरा भरा भी है

ये भजन और कवाली हैं
यहा ईद और दिवाली है

रोज़ा,करवाचौथ , रमज़ान हैं ये
गीता और कुरान है ये
कर्त्तव्य और ईमान हैं ये
दोनों का हिंदुस्तान हैं ये हम सब का हिंदुस्तान हैं ये

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

हम उस शख्श से

इक जमाना था, जब हम सब के हुआ करते थे

मदहोश हम

हम बेताब बैठे है

1 Comment

  1. Mohammad Khan - August 14, 2016, 7:18 pm

    bahot khoob waaah kya kehne

Leave a Reply