हमने तो

कुछ शब्द  कहे थे हमने तो,

वो शब्द जाने कब –

लोगो कि जुबान पर चढ़ गए

और किस्से हो गए .

हम तो सभी के थे ,

जाने कब हम –

बट गए उनके दिलो में और

मेरी जिंदगी के कितने हिस्से हो गए .

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 
यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|
 

Leave a Reply