स्वच्छ भारत

स्वच्छ भारत एक सवेरा है

जिसका भारत में डेरा है

स्वच्छता का सूरज उगता है

तो बीमारियों की शाम होती है

स्वच्छता को बनाएंगे

इस सूरज को उगाएंगे

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

10 Comments

  1. Ajab - March 10, 2018, 5:46 pm

    Good

  2. Ekta - March 10, 2018, 8:07 pm

    good

  3. Vishal - March 12, 2018, 10:42 pm

    Nice

  4. Vishal - March 12, 2018, 11:04 pm

    Good

  5. Vishal Singh - March 13, 2018, 5:36 am

    Sahi likhta h

  6. Punit - March 13, 2018, 6:08 am

    Actually good poetry

  7. Rohit - March 13, 2018, 6:56 am

    Gd

  8. Aryan - March 14, 2018, 12:08 am

    Achha hai lakin or achha likh sakta hai tu

  9. Ayush - March 14, 2018, 12:26 am

    Bilkul sahi kaha

  10. राही अंजाना - July 31, 2018, 11:05 pm

    वाह

Leave a Reply