श्री कलाम

एक मुक्तक श्री कलाम साहब के लिए –

कोई उस खुदा को जाकर मेरा पैगाम दे दो ,
मेरे देश भारत को तुम उसका ईनाम दे दो !
मेरे मोला मेरे मालिक पर्वर्दीगार-ए-आलम ,
सारे नेता तुम ही रख लो, मुझे मेरा “कलाम” दे दो !

कवी नवीन गौड़ पेटलावद जिला झाबुआ मध्यप्रदेश
संपर्क क्रमांक ९९२१८०३५८०

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

7 Comments

  1. Mithilesh Rai - May 16, 2018, 5:49 pm

    बहुत खूब

  2. Neha - May 16, 2018, 7:21 pm

    Waah sir

  3. राही अंजाना - May 16, 2018, 8:39 pm

    Waah

  4. KAVI NAVIN GOUD - May 20, 2018, 4:04 pm

    शुक्रिया

  5. KAVI NAVIN GOUD - May 20, 2018, 4:05 pm

    बहुत बहुत धन्यवाद

  6. KAVI NAVIN GOUD - May 20, 2018, 4:07 pm

    इसी मुक्तक को ऑडियो में सुनने के लिए मेरे whatsapp ९९२१८०३५८० पर संपर्क करें

Leave a Reply