“शहीदों” की “शहीदी”

हुए बहुत लोग शहीद मेरे देश को बचाने को,
पर उन “शहीदों” की “शहीदी” आज खुद शहीद सी लगती है।
देश में हो रहे हंगामो में खुद कही गुम सी लगती हैं।

जिस दिन औरत-आदमी का सामान अधिकार हो जायेगा,
यकीन मानो उस दिन “शाहिदो” की “शाहीदी” को सलाम हो जायेगा।।।।

जिस दिन निर्भया जैसी लडक़ी सरेआम बेआबरू होने से बच जायेगी,
उसी दिन मेरे देश की शाहिदो की शाहीदी अमर हो जायेगी।

जब शाहिदो ने शाहीदी के वक़्त धर्म,जात-पात न देखा,
तो हम क्यों इन ढकोस्लो में पड़ते है।
आ बसंती चोले को काले रंग में रंगते है।।

शहीद होने का मतलब बस प्राण देना नहीं होता,
अपने समाज देश को हर बुराई से आज़ाद करना होता है,

तभी उनकी कुर्बानी “शहीदी” कहलायेगी,
उनके नाम और बलिदान को शीतिज पर लहरायेगी।।
-द्वारा
ज्योति

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

31 Comments

  1. JYOTI BHARTI - March 18, 2017, 12:49 pm

    एक और प्रयास

  2. Sümít - March 18, 2017, 1:10 pm

    Osssm…

  3. Ajay Kumar - March 18, 2017, 1:23 pm

    Very nice.

  4. Varun - March 18, 2017, 1:30 pm

    Nice se bhot jyada@jyoti sis.

  5. Pankaj Garg - March 18, 2017, 1:43 pm

    bahut khoob….
    पर उन “शहीदों” की “शहीदी” आज खुद शहीद सी लगती है।
    superb line…

  6. Ashwani - March 18, 2017, 2:08 pm

    Waaa nice one

  7. Vishal - March 18, 2017, 2:17 pm

    Awesome !!

  8. Yamini - March 18, 2017, 9:44 pm

    Awesomely written..impressive Jyoti ????

  9. Nitin - March 19, 2017, 11:47 pm

    Bhadia lol

  10. Abhishek Arya - March 20, 2017, 11:46 am

    nice

  11. Anup - March 20, 2017, 1:56 pm

    Great Job Keep it up..” ✌?

  12. Shivangi - March 20, 2017, 4:14 pm

    Woww ma’am,so inspiring and nice poem!!???

  13. Sachin - March 20, 2017, 5:32 pm

    Owmse…

  14. Govind - March 20, 2017, 7:28 pm

    Awesome

  15. Himanshi - March 21, 2017, 12:31 pm

    Really nicely written

Leave a Reply