शहीद

शहीद

जब जब भारत के इतिहास के पन्ने पलटे जायेंगे,

भगत सिंह,सुखदेव,राजगुरु के नाम भी लिए जायेंगे !

ये वो हैं जिन्होंने अंग्रेजों की ईंट से ईंट बजा दी थी,

भारत माँ के लिये अपने प्राणों की बाजी लगा दी थी !!

माह सितंबर पंजाब में एक वीर ने जन्म लिया था,

अंग्रेजों के अत्याचारों का बोझ उसने कम किया था !

अंग्रेजों के साथ इन्होंने खून की होली खेली थी,

भारत माता की जय हो ये ही उनकी तब बोली थी !!

सुखदेव,आजाद,राजगुरु का भी इनको साथ मिला,

इनके प्रयासों से ही भारत में एक नया कमल खिला !

ऐसे वीरों की मैं अब चलो फिर से कहानी सुनाता हूँ ,

बुझी हुई देशभक्ति की फिर मैं से लौ जलाता हूँ !!

शहीद दिवस पे चलो मिलके आज हम उन्हें याद करें,

जो पाके हमने खो दिया चलो अब उनका ध्यान करें !

ऐसे वीरों को मैं हरदम शत शत नमन करता हूँ ,

क्या है अब मेरे दिल में मैं उसको अब लिखता हूँ !!

जब भी जनम मिले मुझे भारत वतन मिले,

हो फूल भांति भांति को ऐसा चमन मिले !

इस मातृभूमि पर मेरा तन मन निसार हो,

मरने के बाद मुझको तिरंगा कफन मिले !!

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

5 Comments

  1. राही अंजाना - March 17, 2017, 1:51 pm

    वाह भाई

  2. राही अंजाना - March 23, 2017, 7:05 pm

    Waah bhai jeet ki badhai…
    Dher sari….
    Bbai ek cheej btaoge itne sare likes kese mile aapko mujhe koi trika btao mai kya kru jo mujhe bhi likes mile….
    Plz btao ki meri poem pe like kese milenge mujhe

Leave a Reply