मेरा इस दुनिया मे कोई ना रहा !

मेरा इस दुनिया मे कोई ना रहा ,
मै बेसहारा हो गया।
जो मुझे रास्ते दिखा रहे थे ,
वही पराया हो गया।।
कैसे चलुँ,—–कैसे चलूँ
मै तो बेसहारा हो गया,
ऐ जमाने ना हँसों मेरी गरीबी की रूख से तुझे ही तो चाहा तु ही पराया हो गया।।
ज़्योति
मो न० 9123155481

,

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

1 Comment

  1. शकुन सक्सेना - June 20, 2018, 11:45 pm

    वाह

Leave a Reply