मत कैद करो

मत कैद करो इन मासूम परिंदों को यूँ पिंजरे में
इनको भी हक़ है खुले आसमां में विचरण का।।

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

By Neha

8 Comments

  1. ashmita - May 26, 2018, 12:41 pm

    very nice…we should promote NO CAGE FOR BIRDS

  2. राही अंजाना - May 26, 2018, 3:16 pm

    Bdhiyaa

  3. Mithilesh Rai - May 27, 2018, 4:25 pm

    बहुत खूब

  4. Neha - May 27, 2018, 6:51 pm

    धन्यवाद सर जी।

Leave a Reply