भारत को स्वच्छ बनाना है

चलो उठो ये प्रण कर लें हम
भारत को स्वच्छ बनाना है,
धरती माँ के आँचल को
हरियाले,फल-फूलों से सजाना है,
प्रदूषण की जहरीली हवा से
पर्यावरण को मुक्त बनाना है,
तन स्वच्छ तो करते सब हैं
मन को स्वच्छ बनाना है।

चलो उठो ये प्रण कर लें हम
भारत को स्वच्छ बनाना है,
इस धरा के कण -कण में
नव जीवन का संचार है,
व्यर्थ नहीं कुछ इस जगत में,
कचरे को भी नयी पहचान दें,
पुनः नया कर उसके भी
अस्तित्व को सम्मानदें।

चलो उठो ये प्रण कर लें हम
भारत को स्वच्छ बनाना है,
वासुदेव कुटुम्बकम के मन्त्र को
सच करके दिखाना है,
मन को दर्पण बना लें
जन -जन को खुद में निहारें,
द्वेष कलह को जड़ से उखाड़े।

चलो उठो ये प्रण कर लें हम
भारत को स्वच्छ बनाना है,
पर्वत नदियाँ झीलों को
निर्मल नैसर्गिक रहने दें,
वन जीवों को धरती माँ के
ममता तले पलने दें,
हम जीवों में श्रेष्ट बनें हैं
श्रेष्टता का परिचय कुछ तो रहनें दें।।

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

49 Comments

  1. Yatti - March 9, 2018, 6:34 pm

    This is so good! Love reading your poems. Keep writing.

  2. Shashank - March 9, 2018, 6:56 pm

    Nice

  3. Santosh - March 9, 2018, 8:02 pm

    Nice inspiring poem

  4. Ageek - March 9, 2018, 9:21 pm

    nice poem

  5. Balram - March 10, 2018, 12:13 am

    Just Awesome..।। बहुत ही बेहतरीन कविता, really great, creative poem, every single line touches readers heart, inspire to keep clean our country.

  6. Priya Bharadwaj - March 10, 2018, 7:01 pm

    amazing poem…an inspiration for all of us

  7. शकुन सक्सेना - March 10, 2018, 9:09 pm

    बढ़िया रचना।।।
    प्लीज़ कमेंट ओवर माई पोस्ट

  8. Raghavendra - March 10, 2018, 10:08 pm

    Nice

  9. Priya Gupta - March 11, 2018, 8:55 am

    nice

  10. Anita - March 11, 2018, 10:56 am

    truly touched my heart

  11. Ambuj - March 11, 2018, 5:55 pm

    You are true inspiration for us to write something like this.
    Keep going.

  12. Tanushri - March 11, 2018, 7:54 pm

    Nice keep writing

  13. DV - March 11, 2018, 8:49 pm

    Such piece of poetry inspire to the common man to participate in the Nayional Sawachhta Mission. Great writing.

  14. Yatti - March 11, 2018, 10:07 pm

    So so beautiful! Keep at it. 🙂

  15. Shashank - March 11, 2018, 10:21 pm

    Amazing

  16. Ageek - March 11, 2018, 10:32 pm

    its so good i had to say something again

  17. Amrita - March 11, 2018, 10:33 pm

    Very nice..Keep writing

  18. ashmita - March 12, 2018, 3:34 pm

    each word is inspiring..nice poem

  19. Panna - March 12, 2018, 8:46 pm

    कविता पढते ही मन में इक नयी उमंग सी दौड़ उठती है…यही इस कविता की विशेषता है…और यही सफ़ल कवि की पहचान

  20. Nitesh Chaurasia - March 12, 2018, 9:12 pm

    Just I am trying to understand how you use hindi word to lift up your poetry beyond imagination…Nicely expressed Mam 🙂

  21. Ajay Nawal - March 13, 2018, 8:50 am

    amazing poem ..ritu ji

  22. Priya Gupta - March 14, 2018, 10:58 pm

    nice one

  23. Sridhar - March 15, 2018, 8:45 am

    good poetry

  24. Santosh - March 15, 2018, 5:32 pm

    Nice poem keep writing.

  25. Pankaj - March 16, 2018, 12:15 am

    लाजवाब रचना👍👌
    ऐसे ही लोगों को प्रेरित करे,
    हम दोस्तो का साथ हमेशा रहेगा।।

Leave a Reply