बहुत से ख़्वाब

बहुत से ख़्वाब है आँखों में मेरे
सारे नहीं तो कुछ तो हकीक़त में आएँ
माना के करनी है बहुत मेहनत हमको भी
ज़रा आप भी तो उसमे अपना हाथ मेरे सर पर लाएँ।।

Previous Poem
Next Poem
Spread the love

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

By Neha

8 Comments

  1. राही अंजाना - June 16, 2018, 2:39 pm

    वाह

  2. ashmita - June 16, 2018, 3:00 pm

    nice

  3. Neelam Tyagi - June 16, 2018, 3:11 pm

    बेहतरीन नेहा

  4. Mithilesh Rai - June 16, 2018, 9:47 pm

    बहुत खूब

Leave a Reply