प्यार कभी एक तरफा नही होता

प्यार कभी एक तरफा नही होता
ना होगा
दो रूहों के मिलान की जुड़वा पैदाइश है ये
बहता दरियां है
बस बहता रहता है
प्यार सिर्फ एक जिस्म से पैदा नही होता
मैं और तुम से एक रूह तक का सफर होता है
बस पैदा होता है दो जिस्मो मैं
और बढ़ता जाता है,
पर बूढ़ा नही होता
प्यार एक खुश्बू है
जिसकी, कोई पहचान नही
बस एक अहसास है,
प्यारे से रिस्ते का
प्यार कभी एक तरफा नही होता
ना होगा
दो रूहों के मिलान की जुड़वा पैदाइश है ये

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

2 Comments

  1. राही अंजाना - July 4, 2018, 3:27 pm

    वाह

  2. Chetan Pujara - July 4, 2018, 7:56 pm

    Nice

Leave a Reply