पैसा

पैसा तेरी गजब कहानी—-
पैसे के लिए बीक रही “जिस्म और जवानी”;
पैसे तेरी गजब कहानी’——-
पैसे पर मिलते एक से एक”.. सुन्दर अप्सरा”हुस्न और जवानी; पैसे तेरी गजब कहानी।
पैसे पर बीक रहे नौकरी और शिक्षाा;
पैसा तेरी——
पैसे पर बिक रही हजारो मुहँ बोली संबंध;
पैसे तेरी गजब कहानी —–
पैसे के लिए बदल गये जुबाँए और अदाएँ !
पैसे तेरी अजब गजब कहानी।।
जो दिन रात रहते थे साथ पैसे देखकर हो गये छुरी लेकर तैयार;
इस पैसे की लालच भुला दी अपनो का लार प्यार।

jyoti
mob 9123155481

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

4 Comments

  1. राही अंजाना - June 21, 2018, 10:12 am

    वाह

  2. Neha - June 22, 2018, 9:55 am

    Waah

  3. ashmita - June 22, 2018, 8:04 pm

    nice

Leave a Reply